नई दिल्ली, जेएनएन। उत्तर-पूर्वी जिले के हर्ष विहार इलाके में गोवंश की हत्या कर मांस के टुकड़े फेंकने वाले आरोपित इमरान को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बुधवार को लोनी गोल चक्कर से गिरफ्तार कर लिया। सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के लिए होली वाले दिन (21 मार्च) उसने तीन साथियों के साथ मिलकर मांस के टुकड़े एक फर्म की दीवार के पास फेंके थे। इस घटना को लेकर इलाके में काफी तनाव का माहौल हो गया था, लेकिन पुलिस ने समय रहते लोगों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कर दिया था।

स्थानीय पुलिस ने घटना के कुछ ही दिन के अंदर तीन आरोपितों परवेज, लुकमान व इंशाह आलम को गिफ्तार कर लिया था। इमरान भूमिगत हो गया था। इसके बाद केस को स्पेशल सेल में ट्रांसफर कर पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने उसकी गिरफ्तारी पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था। इमरान गाजियाबाद का रहने वाला है। उसके परिवार के सदस्य वर्षो से पशुओं की खरीद-बिक्री का काम करते हैं।

पुलिस को जानकारी मिली थी कि इस काम के बहाने इमरान गोवंश की हत्या कर मांस बेचता है। पुलिस पूछताछ में इमरान ने बताया कि हर्ष विहार इलाके में सांप्रदायिक तनाव पैदा करने के मकसद से उसने तीन साथियों के साथ मिलकर 20 मार्च की देर रात गोवंश की हत्या की और होली वाले दिन मांस के टुकड़े एक फर्म की दीवार के पास फेंक दिए थे। होली के दिन दंगा करवाकर इलाके में कानून-व्यवस्था बिगाड़ने के लिए उसने ऐसी हरकत की। उसके खिलाफ पशुओं की हत्या करने के कई मामले दर्ज हैं।

वर्ष 2016 में उसने लोनी इलाके में भैंस के शरीर में इंजेक्शन के जरिये जहर पहुंचा दिया था। उसी साल मादक पदार्थ बेचने के आरोप में पुलिस ने उसे गिफ्तार किया था। हर्ष विहार की घटना के बाद इमरान उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड व दिल्ली-एनसीआर में किराये पर कमरा लेकर छिपता रहा। एसीपी अतर सिंह को बुधवार को सूचना मिली थी कि वह इनदिनों उत्तराखंड में छिपा है और परिवार के सदस्यों से मिलने के लिए अपने घर आने वाला है। इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह व एसआइ आदित्य के नेतृत्व में स्पेशल सेल की टीम ने उसे लोनी गोल चक्कर के पास से गिरफ्तार कर लिया।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Edited By: Mangal Yadav