नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Metro News: जून महीने में दिल्ली मेट्रो के संचालन की खबरों के बीच दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) अपनी और से पूरी तैयारी कर चुका है। मेट्रो स्टेशनों पर रोजाना सैनिटाइजेशन करने के साथ ट्रेन के फेरे में लगवाए जा रहे हैं, जिससे किसी तरह की कोई तकनीकी दिक्कत पेश नहीं आए। माना जा रहा है कि केंद्र सरकार से मंजूरी मिलने के बाद DMRC अगले सप्ताह से सीमित रूटों पर ट्रेनों का संचालन शुरू कर सकता है।  

वहीं, विशेषज्ञों की मानें तो सेंट्रलाइज्ड एयरकंडीशन से कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा रहता है। इससे बचाव के लिए दिल्ली मेट्रो रेल निगम ने पूरी तैयारी की है, ताकि मेट्रो का परिचालन शुरू होने पर एसी से ज्यादा संक्रमण न होने पाए। डीएमआरसी ने एसी के सैनिटाइजेशन और उसके संचालन के लिए प्रोटोकॉल तैयार किया है। यदि एक जून से मेट्रो का परिचालन शुरू हुआ तो उस प्रोटोकॉल का पालन होगा।

मेट्रो स्टेशनों पर सुबह-शाम नहीं मिलेगी एसी की ठंडक

डीएमआरसी के अनुसार इंडियन सोसायटी ऑफ हीटिंग, रेफ्रिजरेटिंग एंड एयर कंडिशनिंग इंजीनियर्स (Indian Society of Heating, Refrigerating and Air Conditioning Engineers) नामक संस्थान ने कोरोना के दौर में एसी के इस्तेमाल के लिए दिशा-निर्देश तय किया है। इसके तहत सभी स्टेशनों पर लगे एसी के उपकरणों को एक फीसद सोडियम हाइड्रोक्लोराइड से तैयार स्प्रे से सैनिटाइज किया जाएगा।

इसके तहत भूमिगत स्टेशनों पर एसी का इस्तेमाल कम से कम होगा। अधिकतर समय स्टेशनों का वेंटिलेशन सिस्टम खुला रखा जाएगा, ताकि स्टेशनों पर स्वच्छ हवा की मौजूदगी बनी रहे। इसके अलावा यह तय किया गया है कि सुबह 8:30 बजे तक सभी भूमिगत स्टेशनों के वेंटिलेशन सिस्टम को खुला रखा जाएगा। उस समय एसी नहीं चलेगा।

बताया जा रहा है कि सुबह 8:30 से 10:30 बजे के बीच 100 फीसद स्वच्छ हवा के साथ चिलर प्लांट भी चलाया जाएगा। सुबह 10:30 से शाम 4:30 बजे के बीच एसी चलेगा। इस दौरान भी 10 फीसद स्वच्छ हवा आने के लिए व्यवस्था रहेगी। शाम 4:30 बजे दोबारा सभी वेंटिलेशन सिस्टम खोल दिए जाएंग। शाम सात बजे के बाद चिलर प्लांट बिल्कुल बंद कर दिए जाएंगे। 

दिल्ली मेट्रो में देखने को मिलेंगे ये बड़े बदलाव

  • मेट्रो स्टेशनों के साथ ट्रेनों के कोच में भी जगह-जगह कोरोना वायरस के प्रति जागरण करते स्टीकर/पोस्टर लगे होंगे।
  • कोरोना वायरस से कैसे बचें? इसके लिए एनाउंस करके यात्रियों को जागरूक किया जाएगा।
  • मेट्रो ट्रेन के प्रत्येक कोच में फीजिकल डिस्टेंसिंग के मद्देनजर एक सीट के बाद दूसरी सीट पर स्टीकर लगे होंगे, उन पर लिखा होगा 'यहां बैठना मना है।'
  • यात्रियों को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना होगा।
  • मेट्रो स्टेशनों पर थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी  और सर्दी, जुकाम और बुखार होने की स्थिति में यात्रा की अनुमति नहीं होगी।
  • मुंह पर हर यात्री को मास्क लगाना होगा, नियमों के उल्लंघन पर जुर्माना लगाने की बात भी चल रही है।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस