नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Lockdown 4.0: दिल्ली में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामले जिस गति से आ रहे हैं। उससे डॉक्टरों को आशंका है कि यदि सतर्कता नहीं बरती गई तो मामले और तेजी के साथ बढ़ेंगे। साथ ही मामले दुगुने होने के दिनों की संख्या भी घटेगी। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग को घर पर भी शारीरिक दूरी का पालन करने व मास्क लगाकर रहने का निर्देश जारी करना चाहिए।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष डॉ. केके अग्रवाल ने कहा कि यदि शुक्रवार व शनिवार को भी एक हजार मामले आते हैं, तो मामले दुगुने होने की दर अधिक हो जाएगी। यह चिंता की बात है, क्योंकि दिल्ली में एक सप्ताह में संक्रमण चरम पर पहुंचने की संभावना है। इसका कारण यह है कि लोग ठीक से शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहे हैं। यदि घर में 8-10 लोग रह रहे हैं तो उनमें एक भी संक्रमित होने पर सभी में संक्रमण फैल रहा है, इसलिए घर पर भी शरीरिक दूरी के नियमों का पालन किए जाने की जरूरत है।

वहीं, सफदरजंग अस्पताल के प्रिवेंटिव व कम्युनिटी मेडिसिन के विशेषज्ञ डॉ. जुगल किशोर ने कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन में राहत दिए करीब 10 दिन हो गए हैं। इसके बाद से काफी संख्या में लोगों की आवाजाही शुरू हुई है। कोरोना की इंक्यूबेशन अवधि 2-15 दिन है। यह देखा गया है कि औसतन 7 से 12 दिन में ज्यादातर लोगों को संक्रमण होता है, इसलिए मामले बढ़ रहे हैं। हालांकि जो आशंका जताई गई थी उससे अब भी बहुत कम मामले दिल्ली में आ रहे हैं।

करीब 14 दिन में दोगुना हुए मामले

दिल्ली में 13 मई को कुल 7978 व 14 मई को कुल 8470 मामले थे। जो 28 मई को बढ़कर 16281 हो गए हैं। इस तरह से करीब 14 दिन में मामले दुगुने हुए हैं।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस