नोएडा, जेएनएन। दुष्कर्म के फर्जी आरोप में फंसाकर लोगों से लाखों रुपये ऐंठने के आरोप में जेल में बंद पूर्व चौकी प्रभारी पर एक और आरोप लगा है। दिल्ली की युवती ने ट्विटर समेत अन्य सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर आरोप लगाया कि उसके पिता को पूर्व चौकी प्रभारी ने दुष्कर्म के फर्जी केस में फंसा कर जेल भेज दिया और वे जेल में बंद हैं। युवती ने एसएसपी से मदद की गुहार लगाई है। एसएसपी वैभव कृष्ण का कहना है कि युवती अभी उनसे नहीं मिली है।

दिल्ली के मयूर विहार निवासी फिलहाल दुष्कर्म के आरोप में जेल में बंद हैं। उसकी बेटी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट साझा कर पूर्व चौकी प्रभारी पर दुष्कर्म के फर्जी केस में जेल भेजने का आरोप लगाया है।

युवती का कहना है कि उसके पिता वेब डिजाइनर हैं। जून 2018 में एक व्यक्ति ने उसके पिता से आपत्तिजनक वेबसाइट बनाने का दबाव बनाया, लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। इस पर उसने आरोपित चौकी प्रभारी से मिलकर उसके पिता को दुष्कर्म के फर्जी आरोप में फंसाने की साजिश रची। उस दौरान आरोपित दरोगा सेक्टर-24 कोतवाली में तैनात था। तीन जून दो महिलाएं मसाज की वेबसाइट बनवाने के लिए उसके पिता से मिलने आईं।

पांच जून को उनमें से एक महिला वेबसाइट बनाने के पैसे का भुगतान करने आईं। इस दौरान उसने उसके पिता पर नशीला पदार्थ पिलाकर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए कोतवाली सेक्टर-24 में शिकायत दी। आरोप है कि मिलीभगत कर दारोगा ने रिपोर्ट दर्ज कर ली। दारोगा ने केस खत्म करने के लिए उसके पिता से 10 लाख रुपये की मांग की और 3.50 लाख ले भी लिया। इसके बाद भी उसके पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक
 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस