नई दिल्ली [रणविजय सिंह]। राजधानी में कोरोना की संक्रमण दर 17.03 फीसद से घटकर 14.24 फीसद पर आ गई है। इस वजह से 33 दिन बाद दिल्ली में बृहस्पतिवार को सबसे कम 10,489 नए मामले आए। इससे दिल्ली को राहत मिलती दिख रही है। इससे पहले 10 अप्रैल को 7897 मामले आए थे।

हालांकि, अभी 10 हजार से अधिक नए मामले आने के कारण कोरोना का संकट टला नहीं है। पिछले 24 घंटे में 15,189 मरीज ठीक हुए हैं। इससे सक्रिय मरीजों की संख्या कम हुई है और मरीजों के ठीक होने की दर बढ़ी है। लेकिन चिंताजनक है कि यही वजह है कि पिछले 24 घंटे में 308 मरीजों की मौत हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में अब तक 13 लाख 72 हजार 475 मामले आ चुके हैं। जिसमें से 12 लाख 74 हजार 140 मरीज ठीक हो चुके हैं। इससे मरीजों के ठीक होने की दर 92.83 फीसद हो गई है। वहीं मृतकों की कुल संख्या 20,618 हो गई है। मौजूदा समय में 77,717 सक्रिय मरीज हैं।

अस्पतालों में कम हुए मरीज

कोरोना के मामले कम होने से अस्पतालों में मरीजों का दबाव भी धीरे-धीरे कम हो रहा है। छह मई को अस्पतालों में 20,117 मरीज भर्ती थे। वहीं मौजूदा समय में अस्पतालों में 18,211 मरीज भर्ती हैं। इस लिहाज से अस्पतालों में 9.47 फीसद मरीज कम हुए हैं। वहीं कोविड केयर सेंटर में 607 व कोविड हेल्थ सेंटर में 70 मरीज भर्ती हैं। इसके अलावा 48,340 होम आइसोलेशन में रहकर अपना इलाज करा रहे हैं।

24 घंटे 73,675 सैंपल की जांच

दिल्ली में अब तक कुल एक करोड़ 81 लाख एक हजार 281 सैंपल की जांच हुई है। जिसमें से 73,675 सैंपल की जांच पिछले 24 घंटे में हुई। जिसमें से 14.24 फीसद सैंपल पॉजिटिव पाए गए थे। सबसे अधिक संक्रमण दर 22 अप्रैल को 36.24 फीसद थी। उस दिन 72,208 सैंपल की ही जांच हुई थी। इसके मुकाबले अधिक जांच होने के बावजूद संक्रमण दर में गिरावट हुई है।

नए मामले 63 फीसद तक हुए कम

दिल्ली में सबसे अधिक 20 अप्रैल को 28,395 मामले आए थे। यदि इस आधार पर तुलना करें तो कोरोना के नए मामले करीब 63 फीसद कम हुए हैं। डाक्टर कहते रहे हैं कि यदि कोरोना से बचाव के नियमों का पालन लोग सख्ती से करते रहे तो अगले कुछ दिनों में संक्रमण दर 10 फीसद से नीचे आ सकती है।

आंकड़े कब आए सबसे अधिक मामले

  • 20 अप्रैल
  • मामले- 28,395
  • सैंपल जांच- 86,526
  • संक्रमण दर- 32.82 फीसद

संक्रमण दर कब रही सबसे अधिक

  • 22 अप्रैल
  • मामले- 26,169
  • सैंपल जांच- 72,208
  • संक्रमण दर- 36.24