Move to Jagran APP

AAP Candidates: दिल्ली में ऐसे ही नहीं खेला AAP ने इन चेहरों पर दांव, यहां जानिए लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की रणनीति

आम आदमी पार्टी (AAP) अपने तीन विधायकों और एक पूर्व सांसद के सहारे दिल्ली के चुनाव मैदान की नैया पार करने के लिए उतर गई है। इन प्रत्याशियों को लेकर आम जनता की अलग-अलग राय है। मगर आप ने इन्हें सबसे मजबूत प्रत्याशी माना है। आप की मानें तो उनके तीनों विधायक ऐसे चेहरा हैं जो उनके क्षेत्र की जनता के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहते हैं।

By V K Shukla Edited By: Geetarjun Published: Wed, 28 Feb 2024 06:00 AM (IST)Updated: Wed, 28 Feb 2024 06:00 AM (IST)
दिल्ली में ऐसे ही नहीं खेला AAP ने इन चेहरों पर दांव।

वीके शुक्ला, नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (AAP) अपने तीन विधायकों और एक पूर्व सांसद के सहारे दिल्ली के चुनाव मैदान की नैया पार करने के लिए उतर गई है। इन प्रत्याशियों को लेकर आम जनता की अलग-अलग राय है। मगर आप ने इन्हें सबसे मजबूत प्रत्याशी माना है।

loksabha election banner

आप की मानें तो उनके तीनों विधायक ऐसे चेहरा हैं, जो उनके क्षेत्र की जनता के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहते हैं। इसी को इनकी मजबूती का आधार माना गया है।

क्या है इन उम्मीदवारों पर दांव लगाने की वजह

कोंडली के विधायक कुलदीप कुमार को आप ने एससी समाज के चेहरे के तौर पर मैदान में उतारा है। सहीराम पहलवान तुगलकाबाद से आप के दो बार विधायक, यहां के भाजपा के वर्तमान सांसद रमेश बिधूड़ी के सामने मजबूत दावेदार हैं।

सोमनाथ भारती मालवीय नगर से आप से तीन बार के विधायक हैं और नई दिल्ली सीट पर अपनी पकड़ रखते हैं। उधर महाबल मिश्रा कांग्रेस से पूर्व सांसद रहे हैं, मगर अब आप के साथ हैं और उनके बेटे विनय मिश्रा भी इसी पश्चिमी दिल्ली लोकसभा की एक सीट से विधायक हैं। अब देखना यह है कि उनके लिए इस चुनाव में ऊंट किस करवट बैठता है।

क्या है कुलदीप कुमार को उम्मीदवार बनाने का गणित

राजनीति के जानकारों की मानें तो कुलदीप के जरिए आप ने पूरे दलित वोट पर नजर गड़ाई है। यह भी गणित लगाया गया है कि विधानसभा में दलित आप को वोट करता था, लेकिन लोकसभा में भाजपा को करता था।

कुलदीप के जरिए पूरी दिल्ली के दलित समाज को संदेश दिया गया है, जिससे दलित वोट को लोकसभा में भी आप के पक्ष में किया जाए।

सोमनाथ भारती की अच्छी पैठ

इसी तरह सोमनाथ काफी सक्रिय हैं और सोसाइटी में प्रसिद्ध हैं। वकील के नाम अपर क्लास में अच्छी पैठ है। नई दिल्ली सीट ऐसी है कि यहां भी सोसायटी वोट भाजपा का माना जाता रहा है, सोमनाथ के जरिए उस वोट में सेंध लगाने की तैयारी की गई है। दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष हैं, काफी काम कराया है। इस कारण क्षेत्र में पकड़ है।

सही राम को उतारने की ये है वजह

उधर दक्षिण दिल्ली सीट से सही राम को लेकर जो समीकरण है, वह यह है कि सही राम की छवि गुर्जरों के नेता के साथ साथ पूर्वांचल वोटरों में भी है। मगर लोकसभा चुनाव में यह वोट आप को नहीं मिलता था। अब सही राम को इन दोनों मतदाताओं को अपने साथ लाना होगा। वैसे दक्षिणी दिल्ली सीट पिछले लोकसभा चुनाव में ऐसी सीट रही है, जहां आप कांग्रेस को पछाड़कर नंबर दो पर रही थी। मगर इस बार कांग्रेस भी आप के साथ है तो यह लाभ भी आप को मिलने की उम्मीद है।

ये भी पढ़ें- दिल्ली में AAP ने जारी की लिस्ट, अब कांग्रेस के पत्ते खोलने की बारी; इन उम्मीदवारों पर दांव लगा सकती है पार्टी

महाबल मिश्र पूर्वाचल का चेहरा

महाबल मिश्रा को आप ने पूर्वांचल का चेहरा माना है। पार्षद से लेकर वह सांसद तक रहे हैं। एक समय में अपने इलाके में प्रभावी रहे हैं। मगर जब वह पिछली बार लोकसभा चुनाव जीते थे और इस बार के समीकरण अलग हैं। यहां बहुत कुछ मामला भाजपा द्वारा उतारे जाने वाले प्रत्याशी को लेकर भी रहेगा। मगर यहां आप प्रत्याशियों को जो सबसे बड़ा लाभ मिलने जा रहा है वह यह है कि उनके पास चुनाव प्रचार के लिए पर्याप्त समय है।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.