नई दिल्ली [निहाल सिंह]। Coronavirus, LockDown : कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए देशभर में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है। इसके बाद स्थिति समान्य होने की उम्मीद है, लेकिन अगर इसके बाद भी स्थिति बिगड़ती हैं तो निकाय और विभाग तैयारियों में जुटे हुए हैं। इसी कड़ी में दक्षिणी दिल्ली नगर निगम नाला बेलदार को प्रशिक्षित कर रहा है। इन नाला बेलदारों को भवनों को सैनिटाइज करने से लेकर कोरोना मरीज के घर के आसपास के इलाके को सैनिटाइज करने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इसके बाद माली और अन्य विभागों में कार्य करने वाले सभी सहायकों को इसका प्रशिक्षण दिया जाएगा।

दक्षिणी निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार 14 अप्रैल तक चलने वाले लॉकडाउन का अगर सभी नागरिक पालन करेंगे तो स्थिति सामान्य हो जाएगी। अगर कुछ भी स्थिति बिगड़ती हैं तो उसके लिए विभाग पूरी तरह से अपने आप को तैयार कर रहा है। इसके तहत विभिन्न विभागों में तैनात सहायकों को चिन्हित करके बारी-बारी से उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा। इसमें माली से लेकर पार्को में कार्य करने वाले चौकीदार और अन्य कर्मचारी शामिल हैं। इन कर्मियों का उपयोग जरुरत पढ़ने पर किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि निगम आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए पहले से ही तैयारी कर रहा है। इसमें सामुदायिक भवनों को क्वारंटाइन केंद्र में तैयार करने से लेकर निगम के स्कूलों और बड़ी इमारतों को क्वारंटाइन केंद्र में बदलने का कार्य कर रहा है।

दक्षिणी निगम के कर्मियों ने दिया अपना एक दिन वेतन

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की महापौर सुनीता कांगड़ा ने बताया कि कोरोना वायरस के विरुद्ध बचाव कार्यों और प्रभावित लोगों की सहायता के लिए सभी अधिकारी और स्थायी कर्मचारी अपने एक दिन के वेतन का योगदान करेंगे। इस योगदान कार्य में चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी, सफाई सैनिकों और अनुबंधित कर्मचारियों को शामिल नहीं किया गया है। इस दौरान 43 हजार कर्मचारी सहायता राशि के रूप में 3.5 करोड़ रुपये प्रदान करेंगे।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस