नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Coronavirus LockDown Day 7: रसोई में खडे़ होकर सैनिटाइजर से मोबाइल फोन, चाबी व घर के अन्य सामान को साफ करना हरियाणा के रेवाड़ी के रहने वाले व्यक्ति को भारी पड़ा। उनके कपड़ों पर लगे हुए सैनिटाइजर के आग के संपर्क में आने से उनके कपड़ों में आग लग गई और वह 35 फीसद तक झुलस गए। दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में उनका इलाज कर रहे हैं।

वहीं, गंगाराम अस्पताल के प्लास्टिक एंड कॉस्मेटिक सर्जरी के चेयरमैन डॉ. महेश मंगल ने बताया कि जिस समय पीड़ित व्यक्ति रसोई के सामान को सैनिटाइज कर रहा था। उस वक्त पास में ही उनकी पत्नी खाना बना रही थीं। इस दौरान सैनिटाइजर पीडित व्यक्ति के कपड़ों पर भी गिर गया और इस कारण उनके कपड़ों ने आग पकड़ ली। आननफानन में उन्होंने कुर्ता उतारा लेकिन तब तक वह 35 फीसद तक चल गए थे। इस घटना में पीडित व्यक्ति का चेहरा, गला, छाती, पेट और दोनों हाथ की त्वचा झुलस गई।

रसोई में न करें सैनिटाइजर का प्रयोग

डॉक्टर ने कहा कि सैनिटाइजर में 75 फीसद तक अल्कोहल होता है। ज्यादातर में 62 फीसद तक इथाइल अल्कोहल होता है। इससे यह बहुत ज्वलनशील होता है। इसलिए जरूरी है कि रसोई घर में सैनिटाइजर का इस्तेमाल न करें। वहीं हाथ सैनिटाइज करने के लिए एक बार में बहुत ज्यादा सैनिटाइजर का इस्तेमाल न करें।बच्चों से रखें दूरघर में सैनिटाइजर को बच्चों से दूर रखें। कई बार यह देखा गया है कि बच्चे अनजाने में कुछ भी उठाकर पी जाते हैं। ऐसी स्थिति में यह खतरनाक हो सकता है, इसलिए सैनिटाइजर को बच्चों से दूर रखना चाहिए।

इन बातों का रखें ख्याल

  • बहुत ज्यादा सैनिटाइजर का इस्तेमाल न करें
  • सैनिटाइजर में अल्कोहल होता है जो ज्वनशील है
  • सभी चीज सैनिटाइज करने की जरूरत नहीं
  • हाथ को सैनिटाइज करें क्योंकि हाथ से ही नाक और मुंह छुते हैं
  • किचन में आग के पास खड़े होकर सैनिटाइजर का इस्तेमाल न करें
  • सैनिटाइजर लगाने पर हाथ गीला हो जाता है, उसे सूखा लें
  • घर में साबुन या हैंड वॉश से भी हाथ धो सकते हैं
  • घर से बाहर निकलने पर सैनिटाइजर इस्तेमाल कर सकते हैं

Edited By: JP Yadav