नई दिल्ली, एएनआइ। Coronavirus: देश की राजधानी दिल्ली में लगातार कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामले के मद्देनजर पूर्वी दिल्ली के 500 बेड के गुरुतेगबहादुर अस्पताल को Covid-19 अस्पताल में तब्दील कर दिया गया है। यहां पर अब कोरोना के पीड़ितों का इलाज किया जा सकेगा। आम आदमी पार्टी सरकार ने यह अहम फैसला बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों के चलते लिया है। अब दिल्ली का यह पांचवां अस्पताल हो गया है, जो कोविड-19 अस्पताल में तब्दील हुआ है।

 यूसीएमएस के प्रिंसिपल और जीटीबी में पाच स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित

वहीं, जीटीबी अस्पताल में संक्रमण बढ़ता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में यहां तीन डॉक्टर और दो नर्स संक्रमित पाए गए हैं। इनके अलावा जीटीबी अस्पताल परिसर में स्थित यूसीएमएस (यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज) के प्रिंसिपल भी कोरोना पीडि़त हो गए। हालांकि ¨प्रसिपल में अभी कोरोना के लक्षण नहीं हैं। इस वजह से वह घर में क्वारंटाइन हो गए हैं। जीटीबी अस्पताल में संक्रमित पाए गए डॉक्टर और नर्स जीटीबी एंक्लेव के एफ पॉकेट में रहते हैं। इस वजह से अब यह पॉकेट कंटेनमेंट जोन में शामिल हो सकता है। जीटीबी अस्पताल में अब तक 20 से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। फिलहाल यहां कोरोना का इलाज नहीं हो रहा है, लेकिन जांच हो रही है।

कैंसर संस्थान में भी फिर डॉक्टर निकले पीड़ित इस अस्पताल के परिसर में चल रहे दिल्ली राज्य कैंसर संस्थान में भी शुक्रवार को एक जूनियर रेजीडेंट डॉक्टर कोरोना पीड़ित पाए गए हैं। अस्पताल सूत्रों ने बताया कि कुछ दिनों से डॉक्टर की तबियत खराब थी। इस पर उन्होंने कोरोना की जांच कराई। शुक्रवार को रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि इससे पहले कैंसर संस्थान में 30 से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित हो चुके थे। लेकिन सब स्वस्थ होकर अब ड्यूटी पर लौट आए हैं।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस