नई दिल्ली [वी के शुक्ला]। कोरोना महामारी को लेकर लगाए गए लॉकडाउन के दौरान कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो अपनी जान की परवाह किए बगैर रात-दिन काम कर रहे हैं, ताकि हमारी दिल्ली सुरक्षित रहे, दिल्ली के लोग सुरक्षित रहें। ऐसे कोरोना योद्धा हैं- डॉक्टर, नर्स, प्रिंसिपल और शिक्षक (राशन वितरण), सिविल डिफेंस वॉलेंटियर्स, पुलिस, आशा वर्कर, बस ड्राइवर, कंडक्टर व मार्शल। इन्हें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के हीरोज का नाम दिया है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सबसे मुश्किल जंग अपने दिल्ली के इन योद्धाओं की वजह से इतनी मजबूती से लड़ रही है। इन योद्धाओं की वजह से ही कोरोना के ठीक हो रहे मरीजो की संख्या में भारी इजाफा हुआ है। इनकी वजह से ही दिल्ली में 10 लाख लोगों को प्रतिदिन खाना खिलाया जा रहा है। इनकी वजह से ही लाखों प्रवासी कामगारों को उनके घर भेजा जा रहा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इनका धन्यवाद किया, उन्हें सलाम किया और अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से दिल्ली के हंगर रिलीफ सेंटर के कुक विजय यादव का वीडियो ट्वीट किया और कहा कि 10 लाख लोगों की भूख मिटाने का काम करते हैं ये दिल्ली के हीरो। दिल्ली के हीरोज की कहानी, उनकी ही जुबानी

लॉकडाउन में 22 घंटे कर रहे काम

विजय यादवहंगर रिलीफ सेंटर के कुक विजय यादव कहते हैं कि जब से लॉकडाउन हुआ है, तब से आराम सिर्फ 2 घंटे का मिल रहा है। हम 22 घंटे तक काम करते हैं ताकि लोगों को भोजन मिल सके।

दिल्ली सरकार का भूखे लोगों को खाना खिलाने का फैसला सही

राजेंद्रसिविल डिफेंस वॉलेंटियर राजेंद्र कालकाजी स्थित दिल्ली सरकार के हंगर रिलीफ सेंटर में शारीरिक दूरी सुनिश्चित कराने का काम कर रहे हैं। उनका कहना है कि दिल्ली सरकार के सिविल डिफेंस वॉलेंटियर्स यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि हंगर रिलीफ सेंटरों में अच्छी तरह से सभी को खाना परोसा जाए।

महीने भर से घर नहीं गई, फोन से अपने परिवार के संपर्क में रहती हूं

आशाएलएनजेपी अस्पताल की नर्स आशा का कहना है कि हमें अभी 14 दिनों तक लगातार ड्यूटी करनी है। हमारी तीन शिफ्ट सुबह, शाम और रात की ड्यूटी है। सुबह और शाम की ड्यूटी 6-6 घंटे की है और रात की ड्यूटी 12 घंटे की है। इस तरह 14 दिन लगातार ड्यूटी करनी है और कोई अवकाश नहीं मिलेगा। इसके बाद 14 दिन क्वारंटाइन में रहना है। फिलहाल अभी हमें जो भी समय मिलता है, उसमें फोन या वीडियो कॉल करके परिवार के संपर्क में रहते हैं।

मुख्यमंत्री ने सभी को सहूलियतें दीं

डॉ.अजीत जैन राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के कॉर्डियक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. अजीत जैन का कहना है कि पिछले दो महीने से अस्पताल में ही हैं, घर नहीं गए। हम लोग अस्पताल में ही देखरेख करते हैं। मुख्यमंत्री ने दिल्ली में जितना संभव हो सकता था, उतना सभी को सहूलियतें दीं।

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस