नई दिल्ली [नेमिष हेमंत]। लॉकडाउन और कोरोना के इस कठिन दौर में कोई डाकिया गली से गुजरे और उसके झोले में डाक के अलावा दवाएं, सब्जियां और राशन भी दिखे तो चौंकिएगा नहीं। जरूरत को देखते हुए डाक सेवा ने भी अपनी भूमिका बदल ली है। पहली बार डाक सेवा से जीवन रक्षक दवाएं, फल-सब्जियां व राशन के साथ कोविड-19 की जांच किट भी जुड़ गई है।

इसे वह दिल्ली के अलावा देशभर में पहुंचा रहा है। रेल सेवा बंद है तो इंडिया पोस्ट ने अपनी सेवा जारी रखने के लिए सड़क मार्ग और हवाई कार्गो का सहारा लिया है। डाक अनिवार्य सेवा के तहत आता है। इसलिए जब अधिकांश प्रतिष्ठान बंद है तो डाककर्मी सेवा में जुटे हैं। दिल्ली परिमंडल के 396 में से 100 डाक घर व दो मोबाइल डाक वैन नियमित सेवा दे रहे हैं। हालांकि, सुविधाएं सीमित हैं।

कोविड-19 के जांच किट की बुकिंग भी सुविधा

वित्तीय लेनदेन के अलावा स्पीड पोस्ट की ही बुकिंग ली जा रही है। कुछ चुनिंदा पोस्ट बाक्स से पत्र उठाए जा रहे हैं। स्पीड पोस्ट व दवाएं और कोविड-19 के जांच किट की बुकिंग भी महानगरों- कोलकाता, हैदराबाद, चेन्नई, बेंगलुरु, मुंबई, अहमदाबाद और दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश, हरियाणा व हिमाचल प्रदेश के राज्यों के लिए ही हो रही है।

रोस्टर के हिसाब से कर्मचारियों की तैनाती

वैसे, एहतियातन पोस्ट आफिस में कर्मियों की संख्या कम की गई है। रोस्टर के हिसाब से उनकी तैनाती हो रही है। पोस्ट आफिस में कोरोना से बचाव के जरूरी एहतियात किए गए हैं।दिल्ली परिमंडल के पोस्ट मास्टर जनरल (आपरेशंस) अखिलेश कुमार पांडेय ने कहा कि इस समय सबसे अधिक मांग कोरोना जांच किट व दवाओं की है। लॉकडाउन में लोगों को राशन व फल-सब्जी को लेकर भी दिक्कत है। इसलिए इसे पहली बार डाक सेवा से जोड़ा गया है।इसे लेकर फोर्टिस हास्पिटल, प्लेनेट फार्मा, आश्विन फार्मा व एसआर इंटरप्राइजेज के अलावा ई-कामर्स अमेजन जैसी कंपनियों से करार हुआ है।

कोविड-19 की जांच किट व जीवन रक्षक दवाएं मुंबई, भोपाल, चेन्नई, भुज और लखनऊ जैसे स्थानों पर भेज रहे हैं। मंगलवार को ही दिल्ली स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट मलेरिया रिसर्च (एनआइएमआर) का कोरोना टेस्टिंग किट लखनऊ के अस्पतालों को भेजा गया। इसी तरह जांच किट की एक खेप कुछ दिन पहले दिल्ली से हैदराबाद भेजी गई। वहीं, दिल्ली भर में 500 से अधिक लोगों को किराने का सामान व फल- सब्जी पहुंचाई जा चुकी हैं। पैसे का लेनदेन डाकघर व इसके एटीएम से नियमित है। दिल्ली के डाकघरों से 60 करोड़ का लेनदेन हो चुका है।

Coronavirus: दिल्ली में मोहल्ला क्लीनिक के डॉक्टर की पत्नी और बेटी भी घर लौटीं

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस