नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। Indian Railways Lockdown 2021 Impact : कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति और दिल्ली, हरियाणा सहित कई राज्यों में लाकडाउन लगने से ट्रेनों से यात्री दूर होने लगे हैं। अधिकतर शताब्दी एक्सप्रेस में करीब 40 फीसद बुकिंग ही हो रही है। महाराष्ट्र व पंजाब की ओर जाने वाली कई अन्य ट्रेनों का भी यही हाल है। इसे देखते हुए उत्तर रेलवे ने 28 ट्रेनों को अगले आदेश तक निरस्त कर दिया है। इनमें वंदे भारत, शताब्दी, राजधानी, दुरंतों सहित कई अन्य महत्वपूर्ण ट्रेनें शामिल हैं। ज्यादातर ट्रेनें नौ या 10 मई से यार्ड में खड़ी हो जाएंगी।

पिछले कुछ दिनों से पश्चिम, दक्षिण व उत्तर दिशा में जाने वाली ट्रेनों में यात्रियों की संख्या कम होने लगी है। रेल अधिकारियों का कहना है कि कोरोना संक्रमण की वजह से कई लोग यात्रा करने से परहेज कर रहे हैं। वहीं, लाकडाउन से यात्रियों को घर से रेलवे स्टेशन आने जाने में परेशानी हो रही है।

महाराष्ट्र, बंगाल सहित कई राज्यों में सफर करने के लिए यात्रियों के पास आरटीपीसीआर रिपोर्ट होनी चाहिए। इन वजहों से यात्रियों की संख्या कम होने लगी है। यात्रियों की कमी को देखते हुए पिछले कुछ दिनों से ट्रेनें निरस्त करने की घोषणा हो रही है।

RIP Choudhary Ajit Singh: नरेश टिकैत अब नहीं सुधार पाएंगे यह गलती, कहा था- 'चुनाव में हराना हमारी भूल थी'

उधर, मध्य रेलवे ने 23 यात्री ट्रेनों को रद कर दिया है। इनमें नागपुर-कोल्हापुर स्पेशल ट्रेन को 29 जून तक, सीएसएमटी-कोल्हापुर स्पेशल ट्रेन को पहली जुलाई तक, सीएसएमटी-पुणे स्पेशल 30 जून तक शामिल हैं।

रद होने वाली मुख्य ट्रेनें

श्री माता वैष्णो देवी वंदे भारत एक्सप्रेस, हबीबगंज शताब्दी, नई दिल्ली से कालका के बीच चलने वाली दोनों शताब्दी, चंडीगढ़ शताब्दी, नई दिल्ली से अमृतसर के बीच चलने वाली दोनों शताब्दी, देहरादून शताब्दी, काठगोदाम शताब्दी, चेन्नई राजधानी, बिलासपुर राजधानी, देहरादून जनशताब्दी, ऊना जनशताब्दी, पुणे दुरंतो, जम्मूतवी दुरंतो, कोटा-देहरादून एक्सप्रेस, श्री शक्ति एक्सप्रेस, उत्तर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस, दिल्ली-बीकानेर एक्सप्रेस, सैनिक एक्सप्रेस, देहरादून त्योहार विशेष, सिद्धबलि एक्सप्रेस, हिमाचल एक्सप्रेस।

 

चौधरी अजित सिंह के एक संदेश ने बदल दिया किसान आंदोलन का रुख, फिर तो टिक ही गए राकेश टिकैत

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप