नई दिल्ली [मनीषा गर्ग]। अस्पतालों में ऑक्सीजन की बढ़ रही मांग के बीच अब सिलेंडर की भी किल्लत सामने आने लगी है। प्रशासन का कहना है कि भले ही ऑक्सीजन की जिस हिसाब से मांग बढ़ रही है उस हिसाब से सिलेंडर की उपलब्धता फिलहाल नहीं है। समस्या को देखते हुए प्रशासन अधिक से अधिक सिलेंडर का इंतजाम करने में जुटा है, ताकि इसमें जीवनदायिनी आक्सीजन को भरा जा सके। दक्षिण-पश्चिमी जिला के नजफगढ़ सबडिवीजन के अधिकारियों ने इलाके के औद्योगिक क्षेत्रों के कारोबारियों के यहां से सिलेंडर की जानकारी एकत्रित करनी शुरू कर दी है, ताकि ये जरूरत पड़ने पर इनका इस्तेमाल किया जा सके।

इस क्रम में जब नजफगढ़ के एसडीएम विनय कौशिक बुधवार को नंगली सकरावती स्थित औद्योगिक क्षेत्र पहुंचे जहां उन्हें कुछ सूत्रों से सिलेंडर के कालाबाजारी की सूचना मिली। यहां उन्होंने पांच दुकानों से 142 सिलेंडर जब्त किए। जिसमें 116 सिलेंडर खाली है और 26 सिलेंडर भरे हुए है। विनय कौशिक ने बताया कि अर्जुन पार्क स्थित श्री कृष्णा गैसेस के पास से 26 भरे हुए सिलेंडर बरामद हुए, जबकि दुर्गा मंदिर के पास स्थित वेल्ड कर्फ इंजीनियर्स से 18 खाली और छह भरे हुए सिलेंडर बरामद किए गए।

इसके अलावा सोनू कबाड़ गोदाम से तीन, पीएल जैन एंड कॉरपोरेशन से 29 और अंबे गैसेज से 66 खाली सिलेंडर बरामद किए गए है। यहीं एक सूत्र से नंगली सकरावती के अंतर्गत अवैध रूप से चल रहे सिलेंडर भरने के केंद्र (फिलिंग स्टेशन) की जानकारी मिली।

छानबीन में पता चला कि फिलिंग स्टेशन पर कारोबारी पानीपत से गैस का आयात कर उनकी कालाबाजारी करता है। फिलिंग स्टेशन से 35 खाली और 35 भरे हुए सिलेंडर बरामद हुए है। इसके अलावा 1.5 किलो लीटर आक्सीजन गैस भी बरामद की गई है, जिससे करीब 50 सिलेंडर को भरा जा सकता है।

विनय कौशिक ने बताया कि भरे सिलेंडर को तत्काल उन अस्पतालों में पहुंचा दिया गया, जहां ऑक्सीजन की भारी कमी की सूचना प्राप्त हुई थी। इसके अलावा 1.5 किलाे लीटर ऑक्सीजन गैस को खाली सिलेंडर में भरवाकर अस्पतालों में पहुंचाने का कार्य शुरू कर दिया गया है। सिविल डिफेंस वॉलन्टियर्स की टीम को फिलिंग स्टेशन पर तैनात कर दिया गया है।

विनय कौशिक ने बताया कि अभी फिलिंग स्टेशन के मालिक के खिलाफ पुलिस को कोई शिकायत नहीं दी गई है। प्रशासन पहले अपने स्तर पर उनके कागजों की जांच कर रहा है, ताकि उचित धाराओं के तहत मामला दर्ज हो सके। इसके अलावा फिलिंग स्टेशन से क्षेत्र के किन-किन लोगों ने घरों में ऑक्सीजन सिलेंडर का स्टाॅक किया है, उनकी भी पहचान करने का कार्य शुरू कर दिया गया है। साथ ही नांगलोई रोड पर स्थित लक्ष्मी वाटिका से भी प्रशासन ने 25 आक्सीजन के भरे सिलेंडर जब्त किए है। यहां एक व्यक्ति ने अवैध रूप से सिलेंडर को जमा कर रखा था। इसके अलावा कई अस्पताल भी जरूरत से अधिक ऑक्सीजन सिलेंडर की मांग कर उनका स्टाॅक कर रहे हैं। प्रशासन ऐसे अस्पतालों के खिलाफ भी कार्रवाई सुनिश्चित कर रहा है।