नई दिल्ली [जेएनएन]। मानसरोवर पार्क इलाके में रहने वाली दुष्कर्म पीड़िता छठी कक्षा की छात्रा 13 साल की किशोरी ने बेटी को जन्म दिया है। इसी क्षेत्र में रहने वाले युवक ने मार्च में उसके साथ दुष्कर्म किया था और किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी थी। इसलिए पीड़िता चुप रही और परिजन भी दुष्कर्म की घटना से अनभिज्ञ रहे।

मां-बेटी दोनों स्वस्थ

25 दिसंबर को प्रसव पीड़ा को पेट दर्द समझकर परिजन उसे डॉक्टर के पास ले गए, जहां किशोरी के गर्भवती होने की बात सामने आई। बाद में दिलशाद गार्डन स्थित गुरु तेग बहादुर अस्पताल में छोटे ऑपरेशन के बाद किशोरी ने बच्ची को जन्म दिया। वहां मां-बेटी दोनों स्वस्थ हैं।

पुलिस ने आरोपी के किया गिरफ्तार 

किशोरी मूलरूप से बिहार की रहने वाली है और पिता व भाई-बहन के साथ मानसरोवर पार्क इलाके में रहकर पास के ही सरकारी स्कूल में पढ़ती है। बहरहाल, पुलिस ने आरोपी विकास (21) के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो के तहत मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया और कोर्ट ने जेल भेज दिया है। विकास आईटीआई करने के बाद करोलबाग इलाके में एक कंपनी में नौकरी करता था।

आरोपी और बच्ची का डीएनए टेस्ट कराएगी पुलिस

दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि विकास पर जो आरोप है, उसकी पुष्टि के लिए उसका और नवजात बच्ची का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा। डीएनए रिपार्ट आने पर ही पता चलेगा कि किशोरी से विकास ने दुष्कर्म किया था या नहीं।



पिता ने कहा, दुष्कर्म करने वाले को सख्त सजा दिलाए पुलिस

झिलमिल औद्योगिक क्षेत्र में कॉपर वायर फैक्ट्री में काम करने वाले किशोरी के पिता ने बेटी के साथ दुष्कर्म करने वाले को सख्त से सख्त सजा दिलाने की मांग की है। उनका कहना है कि विकास ने न सिर्फ किशोरी का भविष्य खत्म कर दिया, बल्कि पैदा हुई बच्ची के भविष्य को भी खतरे में डाल दिया है। 

यह भी पढ़ें: मोबाइल देने से मना किया तो भड़क गए पड़ोसी, चेहरे पर फेंका पेट्रोल, लगा दी आग

यह भी पढ़ें: सुनो, सुनो, सुनो...पीली पर्ची वाले से सावधान, इस नंबर पर फोन कर दें सूचना

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस