नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Crime: बेटियों की सुरक्षा के मामले में देश की राजधानी दिल्ली को सबसे ज्यादा खराब शहर माना जाता है। यहां का निर्भया कांड आखिर कौन भूल सकता है। अब तक दिल्ली की सड़कें महिलाओं और लड़कियों के लिए असुरक्षित मानी जाती रही है, लेकिन ताजा घटना ने यहां के शैक्षणिक संस्थानों में बेटियों की सुरक्षा पर भी प्रश्नचिह्न लगा दिया है। दिल्ली के एक केंद्रीय विद्यालय में 11 वर्षीय छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है।

स्कूल के टायलेट में किया दुष्कर्म

दिल्ली की महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इस मामले में स्कूल के प्रिंसिपल को नोटिस जारी कर जवाव मांगा है। महिला के आयोग के नोटिस के मुताबिक, नई दिल्ली स्थित एक केंद्रीय विद्यालय में 11 साल की छात्रा के साथ स्कूल के दो सीनियर छात्रों ने टायलेट में दुष्कर्म किया। आरोपित दोनों लड़के 11वीं-12वीं कक्षा के छात्र हैं। 

यह भी पढ़ें- Misdeed in Ludhiana: औद्याेगिक नगरी में रिश्ते शर्मसारः 8 साल की बेटी से घिनाैना काम करने वाला पिता गिरफ्तार

तीन महीने बाद खुला मामला

पीड़िता ने बताया कि जुलाई में उसके साथ स्कूल के सीनियर लड़कों ने इस वारदात को अंजाम दिया। क्लास में जाने के दौरान 11 वर्षीय छात्रा सीनियर छात्रों से टकरा गई। नाबालिग पीड़िता ने बताया कि इसके बाद दोनों लड़के उसे बुरा-भला कहने लगे। छात्रा ने दोनों से माफी भी मांगी। छात्रा के साथ गाली-गलौज करते हुए दोनों लड़के उसे स्कूल के टायलेट में ले गए और वहां दोनों ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया।

स्कूल ने की मामला दबाने की कोशिश 

पीड़ित छात्रा ने बताया कि उसने इस घटना के बारे में स्कूल प्रशासन को जानकारी दी, जिसके बाद उसे यह कहकर शांत करा दिया कि दोनों लड़कों को स्कूल से निकाल दिया गया है। पीड़िता का आरोप है कि स्कूल की ओर से उसकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की गई और न ही पुलिस को इसकी जानकारी दी गई। दिल्ली महिला आयोग ने अब मामले में संज्ञान लेते हुए स्कूल प्रशासन को नोटिस जारी किया है।

दिल्ली महिला आयोग ने चार दिनों के भीतर मांगा जवाब

दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने स्कूल के प्रिंसिपल से मामले की कार्रवाई को लेकर चार दिनों के भीतर जवाब मांगा है। महिला आयोग ने प्रिंसिपल को भेजे नोटिस में पूछा कि घटना कितने तारीख को हुई और इस मामले में स्कूल प्रशासन की ओर से क्या कदम उठाए गए। इसके साथ ही महिला आयोग ने स्कूल प्रबंधन की ओएर से दिल्ली पुलिस में की गई शिकायत की कापी मांगी है। महिला आयोग ने उस टीचर का भी ब्यौरा मांगा है, जिसे छात्रा ने आपबीती बताई थी। 

Edited By: Aditi Choudhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट