जागरण संवाददाता, आनलाइन डेस्क। अब से लगभग एक साल पहले पुलिस ने गुरूग्राम से जितेंद्र उर्फ गोगी को फिल्मी स्टाइल में गिरफ्तार किया था। उस दिन शहर से दूर सेक्टर-82 में स्थित कासाबेला सोसायटी में सुबह पांच बजे फिल्मों की शूटिंग सा नजारा देखने को मिला था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम अस्सी से अधिक कमांडो के साथ वहां पहुंची थी। दो बसों तथा अन्य वाहनों में आए पुलिस अफसरों व कमांडो के आगे गुरुग्राम पुलिस की जिप्सी थी।

वाहनों से उतरते ही पुलिस अफसर व कमांडो सोसायटी के बी-फोर टावर को घेर लेते हैं। एकाएक आए कमांडो टीम को देख सुबह की सैर पर निकले लोग सहम गए थे। लोगों ने पहले समझा कि सोसायटी में कोई आंतकवादी है, जिसे कमांडो पकड़ने आए हैं। मगर पांच मिनट बाद माइक से आवाज गूंजी कि जितेंद्र गोगी तुम्हें चारों ओर से घेर लिया गया है। बच नहीं पाओगे नीचे आकर सरेंडर कर दो नहीं तो गोली से भून दिए जाओगे। तुम्हारे ऊपर दिल्ली एवं हरियाणा पुलिस का इनाम है।

यह सुन लोगों का भ्रम दूर हुआ था, वहीं फ्लैट नंबर 201 में हलचल तेज होने लगी थी। पुलिस ने देखा कि चार युवक आए और बालकनी से नीचे देखा। फिर अंदर चले गए। सभी के हाथ में पिस्टल नजर आ रही थी। वहीं माइक से फिर आवाज गूंजी गोगी तुम मोस्ट वांटेड अपराधी हो नीचे नहीं आए तो हमारे कमांडो ऊपर आकर मार देंगे। इस घोषणा के दस मिनट बाद ही एक युवक बालकनी पर आया और वीडियो बनाने लगा। वह कह रहा था कि मैं जितेंद्र मान उर्फ गोगी पुलिस के सामने सरेंडर करने जा रहा हूं। पुलिस हमें चारों ओर से घेर चुकी है। सरेंडर नहीं करेंगे तो एनकाउंटर हो जाएगा।

11 सेकंड का यह वीडियो गोगी ने सोशल साइट पर वायरल भी कर दिया। करीब पौने छह बजे गोगी तीन अन्य युवकों के साथ नीचे आ गया। उसे देखते ही पुलिस कमांडो ने उसे दबोच लिया। बाद में फ्लैट की तलाशी ली तो चार पिस्टल मिलीं। इनको पुलिस कर्मियों ने कब्जे में ले लिया। गोगी को पकड़ने के बीस मिनट बाद पुलिस टीम सोसायटी से चली गई, जिसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली।

यह भी पढ़ेंः Rohini Court Firing News: दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में जज के सामने गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की हत्या, दो हमलावर ढेर

 

Edited By: Vinay Kumar Tiwari