नई दिल्ली [वीके शुक्ला। दिल्ली सरकार ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर दिल्ली के सभी रेस्टोरेंट को 31 मार्च तक बंद करने का फैसला लिया है। उपराज्यपाल के साथ बैठक के बाद दिल्ली सचिवालय में प्रेसवार्ता मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि रेस्टोरेंट में बैठक कर खाना खाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। हालांकि खरीदने और होम डिलीवरी पर प्रतिबंध नहीं है। पूर्व में किसी धार्मिक, राजनीतिक या सामाजिक समेत अन्य आयोजनों में 50 से अधिक लोगों की भीड़ एकत्र होने पर रोक थी, लेकिन अब ऐसे आयोजनों में 20 से अधिक लोगों की भीड़ एकत्र होने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि जिन लोगों को क्वारंटाइन किया जा रहा है, उनके हाथ पर अब स्टैंपिंग भी की जा रही है, ताकि वे सार्वजनिक स्थान पर जाने से रोका जा सके। ऐसे लोग सरकार के निर्देशों का पालन नहीं करते हैं, तो उन्हें गिरफ्तार भी किया जा सकता है। उन पर एफआईआर भी दर्ज की जा सकती है। मुख्यमंत्री ने सभी से अपील कि घबराएं नहीं, बल्कि सतर्कता बरतें।

केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए दिल्ली सरकार सभी उचित कदम उठा रही है। अभी तक दिल्ली में कुल 10 मरीज पाए गए हैं। इसमें से एक की मौत हो गई है। दो मरीज ठीक होकर घर चले गए हैं। उनमें से एक मरीज सिंगापुर चला गया है। दिल्ली के 6 मरीजों का इलाज चल रहा है। यह लोग भी अब ठीक हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि अभी तक हमारे पास क्वारंटाइन करने के लिए कुल 768 बेड की क्षमता है। उनमें से अभी तक 57 बेड इस्तेमाल हुए हैं। अभी 711 बेड खाली है। हमारे पास कुल 550 आइसोलेशन बेड हैं, जहां मरीज को भर्ती कर इलाज किया जा सकता है। 550 बेड में से सिर्फ 40 का इस्तेमाल हो रहा है। इसमें वह लोग हैं, जो संदिग्ध मिले हैं। उनको आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।

वहीं केंद्र सरकार के अस्पतालों में 95 बेड में से 67 इस्तेमाल हो रहे हैं।केजरीवाल ने कहा कि जिन लोगों को एयरपोर्ट पर क्वारंटाइन किया जा रहा है, उनसे घर पर भी क्वारंटाइन करने के लिए कहा जा रहा है। उन्होंने कहा कि कई मामले सामने आए हैं कि वो लोग भाग जा रहे हैं। उनके हाथ में स्टैंप लगाई जा रही है, ताकि सार्वजनिक स्थान पर स्टैंप लगा व्यक्ति दिखाई दे, तो उसे तुरंत घर जाने के लिए कहा जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लंबी दूरी वाली बसों के आवागमन में बहुत कमी आई है। जम्मू-कश्मीर ने पूरी तरह बंद कर दिया है। नेपाल ने प्राइवेट बसें बंद कर दी हैं। केजरीवाल ने लोगों से अपील है कि स्थिति की नाजुकता को समझते हुए घर से बाहर कम से कम निकलें। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरी सभी लोगों से अपील है कि घबराने की जरूरत नहीं है। कल सफदरजंग अस्पताल से एक मरीज ने कूद कर आत्महत्या कर ली थी। लोगों को समझने की जरूरत है कि कोरोना वायरस की बीमारी जिनको हो जाती है, उन सभी की जान नहीं चली जाती है।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि जो भी आवश्यक सेवाएं हैं उनको अनुमति दी जाएगी। गैर आवश्यक सेवाओं को शुक्रवार से बंद कर दिया जाएगा। दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों को वेंटिलेटर, अन्य अपकरणें को सही स्थिति में रखने के लिए निर्देश दिए जा रहे हैं। हम सभी प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों की मै¨पग करा रहे हैं कि कहां क्या-क्या सुविधाएं हैं, जिसे जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल कर सकें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बस, मेट्रो के फेरे कम करते हैं, तो उसमें भीड़ बढ़ सकती है। इसलिए हम फेरे कम नहीं कर रहे हैं, बल्कि हम चाहते हैं कि लोग ही यात्रा करना कम कर दें। केजरीवाल ने कहा कि दिहाड़ी मजदूरी करने वालों को लेकर दिल्ली सरकार भी चिंतित हैं। यह लोग रोज कमा कर खाते हैं। हम आंकलन कर रहे हैं कि इनके लिए क्या करना चाहिए। दैनिक उपयोग की वस्तुएं बेचने वाली दुकानों पर लोगों भीड़ लगने और राशन जमा करने पर पूछे गए सवाल पर मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील कि इस तरह से घबराएं नहीं, यह ठीक नहीं है। इससे कोई फायदा नहीं है।

 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस