मीरपुर। स्पिनरों की कसी हुई गेंदबाजी के बाद बल्लेबाजों के संतुलित प्रदर्शन के दम पर भारत ने शुक्रवार को चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान पर सात विकेट से जीत दर्ज करते हुए टी-20 विश्व कप टूर्नामेंट में अपने अभियान की दमदार शुरुआत की। भारत ने अमित मिश्रा (2/22) की अगुआई में गेंदबाजों ने पाकिस्तान को निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट पर केवल 130 रन ही बनाने दिए। इसके बाद विराट कोहली (नाबाद 36) और सुरेश रैना (नाबाद 35) की 66 रन की अटूट साझेदारी की मदद से तीन विकेट खोकर नौ गेंद शेष रहते लक्ष्य हासिल कर लिया।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को शिखर धवन (30) और रोहित शर्मा (24) ने ठोस शुरुआत दिलाई। दोनों ने पहले विकेट के लिए आठ ओवर में 54 रन जोड़े। अगले तीन ओवरों में पाकिस्तान ने लगातार तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेजकर भारत का स्कोर तीन विकेट पर 65 रन कर दिया और मैच में वापसी करने की कोशिश की, लेकिन कोहली-रैना ने मैच पर से भारत की पकड़ ढीली नहीं होने दी और टी-20 विश्व कप में पड़ोसी मुल्क के खिलाफ शत-प्रतिशत जीत के रिकॉर्ड को बरकरार रखा। भारत अपना अगला मैच 23 मार्च को वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलेगा।

इससे पहले, अमित मिश्रा ने आकर्षक गेंदबाजी करते हुए 22 रन देकर दो विकेट झटके, जबकि रवींद्र जडेजा ने किफायती गेंदबाजी करते हुए 18 रन देकर एक विकेट लिया। गेंदबाजी का आगाज करने वाले आर अश्विन को कोई विकेट नहीं मिला, लेकिन उन्होंने अपने कोटे के ओवरों में केवल 23 रन दिए।

दूसरी पारी में ओस की मुसीबत से बचने के लिए धौनी ने टॉस जीतकर पाकिस्तान को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया, जिसकी शुरुआत अच्छी नहीं रही। अच्छी लय में दिख रहे कामरान अकमल (08) को दूसरे ओवर में भुवनेश्वर ने सीधे थ्रो पर रन आउट करके पवेलियन भेज दिया। इसके बाद अहमद शहजाद (22) और मुहम्मद हफीज (15) ने दूसरे विकेट के लिए 5.4 ओवर में 35 रन की साझेदारी करके टीम को लय प्रदान करनी चाही।

यह साझेदारी खतरनाक साबित होती इससे पहले जडेजा ने हफीज को भुवी के हाथों कैच आउट करा दिया। अगले ही ओवर में मिश्रा ने अपनी शानदार लेग ब्रेक पर शहजाद को चकमा दिया और धौनी ने उनकी गिल्लियां बिखेर दीं। लगातार दो विकेट गिर जाने से पाकिस्तान की रनगति पर एक बार फिर ब्रेक लग गया। उमर अकमल (33) और शोएब मलिक (18) ने चौथे विकेट के लिए सात ओवरों में 50 रन की साझेदारी करके टीम को सौ रन के करीब पहुंचाया।

पिछले ओवर में मिश्रा की गेंद पर छक्का जड़ चुके मलिक ने मिश्रा द्वारा फेंके जा रहे 16वें ओवर में भी वैसा ही शॉट खेला, लेकिन इस बार वह गेंद को सीमारेखा के पार नहीं भेज सके और गेंद सुरेश रैना के सुरक्षित हाथों में जा समाई। इसके बाद लगातार ओवरों में रैना ने उमर और खतरनाक शाहिद आफरीदी (08) के कैच भी लपके। आखिरी ओवरों में शोहेब मकसूद ने 12 गेंदों पर 21 रन बनाकर टीम को सम्मानित स्कोर तक पहुंचाया।

भारत की तरफ से तेज गेंदबाजों में भुवी ने तीन ओवर में 21 रन देकर एक विकेट लिया, जबकि मुहम्मद शमी ने चार ओवर में 31 रन देकर एक विकेट झटका।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप