Move to Jagran APP

KKR के खिलाड़ी ने बीमार मां से पूछा- क्या चाहिए; जवाब मिला सिर्फ जीत; चैंपियन ने सुनाया भावुक कर देने वाला किस्सा

आईपीएल के 17वें सीजन में कोलकाता नाइटराइडर्स ने फाइनल जीता। टीम ने श्रेयस अय्यर की कप्तानी में फाइनल मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद को 8 विकेट से मात दी। केकेआर ने 10 साल बाद आईपीएल की ट्रॉफी जीती। यह केकेआर का तीसरा खिताब है। केकेआर की जीत के बाद सलामी बल्लेबाज रहमानुल्लाह गुरबाज ने बीमार मां की चाहत के बारे में खुलासा किया।

By Umesh Kumar Edited By: Umesh Kumar Published: Mon, 27 May 2024 06:00 AM (IST)Updated: Mon, 27 May 2024 06:00 AM (IST)
आईपीएल फाइनल के दौरान रहमानुल्लाह गुरबाज। फोटो- BCCI

स्पोर्ट्स डेस्क, नई दिल्ली। शाहरुख खान की फिल्म का एक डायलॉग है; इतनी शिद्दत से मैंने तुम्हे पाने की कोशिश की है, की हर जर्रे ने मुझे तुमसे मिलाने की साजिश की है! ये लाइन उन्हीं की टीम और एक खिलाड़ी पर फिट बैठती है। पहले मां की बिमारी के चलते बीच आईपीएल स्वदेश लौटना पड़ा। उसके बाद किस्मत ने अपनी चाल चली और गुरबाज को वापस भारत खींच लाई।

जी हां हम बात कर रहे हैं अफगानिस्तान के विकेटकीपर बल्लेबाज रहमानुल्लाह गुरबाज की। मां की तबीयत खराब होने पर वह बीच आईपीएल से स्वदेश लौट गए थे। किस्मत का खेल देखिए, पाकिस्तान के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए फिल साल्ट इंग्लैंड चले गए। उधर, गुरबाज की मां की तबीयत में सुधार हुआ तो वह दोबारा कोलकाता टीम से वापस जुड़ गए।

बीमार मां को अस्पताल में छोड़ भारत वापस आए गुरबाज

रहमानुल्लाह गुरबाज अपनी बीमार मां को अस्पताल में छोड़कर आईपीएल लीग स्टेज के अंत में लौटे। बारिश के कारण राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच धुलने के बाद उन्हें प्लेऑफ में खेलने का मौका मिला। फाइनल में गुरबाज ने 39 रन की पारी खेली। फाइनल से पहले गुरबाज ने मां से बात की थी। उन्होंने उनसे पूछा था क्या चाहिए। मां ने कहा था कुछ नहीं केवल जीत। आईपीएल चैंपियन बनने के बाद गुरबाज ने इस भावुक बातचीत का खुलासा किया।

यह भी पढे़ं- T20 World Cup 2024 के लिए Indian Team के 10 खिलाड़ी पहुंचे न्यूयॉर्क, रोहित शर्मा ने शेयर की तस्वीर

गुरबाज ने सुनाया मां के साथ बातचीत का किस्सा

मैच के बाद गुरबाज ने कहा, मुझे लगता है कि वह फाइनल देख रही होंगी, वह अब ठीक हैं। मैच से पहले मैंने अपनी मां से बात की, मैंने पूछा कि आप क्या चाहती हैं? उन्होंने कहा, कुछ नहीं बस जीत। साल्ट के जाने के बाद मुझे मौका मिला और मैं इसके लिए तैयार था। मैं दो बार आईपीएल का चैंपियन हूं। मैं भाग्यशाली हूं। जब आप 2 महीने तक कड़ी मेहनत करते हैं और जब परिणाम ऐसा आता है तो वह खास होता है।

यह भी पढ़ें- IPL 2024 Final: वेंकटेश अय्यर ने रचा इतिहास, ऐसा करने वाले बने पहले खिलाड़ी; सुरेश रैना के रिकॉर्ड की भी कर ली बराबरी


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.