Move to Jagran APP

क्रिकेट की 'वंडर बेबी' बनी चार साल की रिषिका, बल्लेबाजी देख युवराज सिंह भी हुए इंप्रेस; दे दिया ये खास तोहफा

भारत को अपनी जबर्दस्त बल्लेबाजी से 2007 का टी-20 और 2011 का वनडे विश्वकप जिताने वाले युवराज सिंह भी रिषिका का खेल देखकर आश्चर्य में पड़ गए और उसे उपहार में अपना हस्ताक्षरित किया हुआ बल्ला भेजा है। वहीं मर्लिन ग्रुप की ओर से रिषिका को स्कालरशिप प्रदान करते हुए कोलकाता स्थित युवराज सिंह सेंटर आफ एक्सीलेंस में उसके निशुल्क प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई है।

By Jagran News Edited By: Priyanka Joshi Wed, 10 Jul 2024 10:26 PM (IST)
पिता का सपना, बेटी बड़ी होकर जिताए महिला विश्वकप

विशाल श्रेष्ठ, जागरण, कोलकाता। वह महज चार साल की है। कद बल्ले से कुछ ही ऊंचा होगा लेकिन जब वह अपने छोटे हाथों से बल्ला भांजती है तो बड़े-बड़े हैरत में पड़ जाते हैं। भारतीय महिला क्रिकेट के लिए छोटी सी उम्र में बड़ी संभावना बनकर उभर रही यह 'वंडर बेबी' है रिषिका सरकार। भारत को अपनी जबर्दस्त बल्लेबाजी से 2007 का टी-20 और 2011 का वनडे विश्वकप जिताने वाले युवराज सिंह भी रिषिका का खेल देखकर आश्चर्य में पड़ गए और उसे उपहार में अपना हस्ताक्षरित किया हुआ बल्ला भेजा है। वहीं मर्लिन ग्रुप की ओर से रिषिका को स्कालरशिप प्रदान करते हुए कोलकाता स्थित युवराज सिंह सेंटर आफ एक्सीलेंस में उसके नि:शुल्क प्रशिक्षण की व्यवस्था की गई है।

पिता का सपना, बेटी बड़ी होकर जिताए महिला विश्वकप

रिषिका के पिता राजीव सरकार ने बताया कि मैं क्रिकेटर बनकर देश के लिए खेलना चाहता था लेकिन आर्थिक तंगी के कारण अपना सपना पूरा नहीं कर पाया। मैंने सोच लिया था कि मेरी संतान, चाहे बेटा हो या बेटी, उसे क्रिकेटर बनाऊंगा। बेटी जब चलने लायक हुई, मैंने तभी से उसे क्रिकेट सिखाना शुरू कर दिया। सगे-संबंधियों ने कहा कि क्रिकेट पुरूषों का खेल है। महिला क्रिकेटरों को कोई नहीं पहचानता। बेटी को क्रिकेट सिखाकर क्या करोगे? मेरा सपना है कि बेटी बड़ी होकर भारतीय महिला टीम का प्रतिनिधित्व करे और देश को विश्वकप जिताए।

पेशे से प्राइवेट ट्यूटर राजीव ने आगे कहा-'मैं रोज उसे घर के पास स्थित मैदान में ले जाता था। कुछ दिनों बाद जब मैंने बल्लेबाजी करने का उसका अंदाज देखा तो अवाक रह गया। वह गेंदों पर करारे शाट लगाती है।

यूं सामने आई प्रतिभा

न्यूटाउन इलाके के रहने वाले राजीव ने बताया कि मैं एक सुबह अपनी बच्ची को मैदान में अभ्यास करा रहा था। तभी वहां से गुजर रहे कोलकाता के मशहूर रेडियो जाकी व कंटेंट क्रिएटर प्रवीण की रिषिका पर नजर पड़ी। उन्होंने मुझसे अनुमति लेकर उसके खेल का एक वीडियो बनाया और उसे इंटरनेट मीडिया पर डाल दिया। मर्लिन ग्रुप के तत्वावधान में चलने वाले युवराज सिंह सेंटर आफ एक्सीलेंस की इसपर नजर पड़ी। जब युवराज सिंह को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने भी रिषिका का वीडियो देखा।

हमारी एकेडमी रखेगी रिषिका का पूरा ध्यान : युवी

युवराज ने ऋषिका को वीडियो संदेश भेजकर कहा-'ऋषिका, मैंने आपका क्रिकेट खेलते हुए वीडियो देखा है। इतनी छोटी उम्र में आप बहुत अच्छा खेलती हैं। मुझे खुशी है कि आपके इस सफर में हमारी एकेडमी आपके साथ है। हमारे हाई परफार्मेंस सेंटर में हमारे कोच आपकी ट्रेनिंग में कोई कमी नहीं आने देंगे। आपको मेरी तरफ से शुभकामनाएं। आपसे बहुत जल्द मिलूंगा।

रोजाना तीन-चार घंटे करती है अभ्यास

रिषिका रोजाना तीन-चार घंटे अभ्यास करती है। कवर ड्राइव उसका पसंदीदा शाट है। वह पुल व स्लीप शाट भी अच्छा लगाती है। मां राधिका उसके खाने-पीने का पूरा ध्यान रखती हैं।