नई दिल्ली, जेएनएन। विराट कोहली और MS Dhoni ने भारतीय क्रिकेट को सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण जैसे खिलाड़ियों के संन्यास से बाद आगे बढ़ाया। द्रविड़ के बाद धौनी ने टीम की कमान संभाली और टीम इंडिया को क्रिकेट के हर फॉर्मेट में कमाल की सफलता दिलाई और दो-दो वर्ल्ड कप खिताब भी दिलाया। धौनी के बाद विराट ने टीम की कमान संभाली और अब वो इस परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं। 

 

विराट और धौनी की कप्तानी को लेकर भी कई बार चर्चा होती है और दोनों में से एक लीडर के तौर पर कौन  बेहतर है इस पर भी कई क्रिकेटर्स अपनी राय दे चुके हैं। यही सवाल हाल ही में क्रिकबज पर एक कार्यक्रम के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज उमेश यादव से पूछा गया। उमेश ने हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट में अपने दस साल पूरे किए हैं और उन्होंने विराट व धौनी की तुलना वाले सवाल पर काफी बोल्ड और ईमानदार जवाब दिया। 

उमेश यादव ने (मुस्कुराते हुए) इस सवाल का जवाब देते हुए कहा कि 'ये काफी मुश्किल है भाई, ऐसे सवाल मत पूछो।' उमेश यादव ने अपना इंटरनेशनल डेब्यू धौनी की कप्तानी के दौरान ही किया था। साल 2015 वनडे वर्ल्ड कप में  उन्होंने अपनी बेहतरीन गति, एक्स्ट्रा बाउंस के जरिए भारत की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे।

वहीं विराट की कप्तानी के अंदर इस गेंदबाज ने खुद को और बेहतरीन खिलाड़ी के तौर पर स्थापित किया। इस वक्त भारत का पेस अटैक दुनिया के बेहतरीन गेंदबाजी आक्रमण के तौर पर देखा जाता है और इस यूनिट में जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, नवदीप सैनी और उमेश यादव शामिल हैं। हालांकि फिलहाल उमेश सिमित प्रारूप वाली टीम में अपनी जगह इस वक्त गंवा चुके हैं। 

वहीं विराट और धौनी की कप्ताी की तुलना शायद सही नहीं है क्योंकि दोनों अलग-अलग मिजाज के कप्तान हैं। धौनी ने एक कप्तान के तौर पर लगभग सारी उपलब्धियां अपने नाम की हैं। यही नहीं विकेटकीपर व बल्लेबाज के तौर पर भी वो खूब सफल रहे हैं। तो वहीं विराट भी कप्तान के तौर पर खूब सफल हो रहे हैं। साल 2017 में वो भारतीय टीम के हर प्रारूप में कप्तान बन गए थे। एक बल्लेबाज के तौर पर विराट की उपलब्धि दिन ब दिन नई उंचाईयों को छूती जा रही है। 

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस