नई दिल्ली। भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम आइसीसी के भावी दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) के तहत अगले पांच साल में यानी मई 2023 से अप्रैल 2027 के बीच 141 द्विपक्षीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगी। भारतीय टीम पांच साल में 38 टेस्ट, 42 वनडे और 61 टी-20 मैच खेलेगी। इसमें पाकिस्तान के विरुद्ध कोई द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली जाएगी। इस एफटीपी से यह स्पष्ट हो गया कि भारत टी-20 के प्रारूप को ज्यादा अहमियत दे रहा है।

भारत और पाकिस्तान की टीमें आपस में भले नहीं खेलने वाली लेकिन दोनों देशों में होने वाले टी20 लीग के टकराव की पूरी संभावना हैं। पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) की चैंपियंस ट्रॉफी के आयोजन के अलावा व्यस्त घरेलू सत्र के चलते 2025 में पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) और इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) की तारीखों में टकराव की पूरी संभावना है।

Men's FTP 2023-27: 30 सालों में पहली बार भारत और ऑस्ट्रेलिया खेलेगी 5 मैचों की दो टेस्ट सीरीज

आइपीएल की ढाई महीने की विंडो (टूर्नामेंट के आयोजन का समय) मार्च से शुरू होकर जून की शुरुआत तक चलती है। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) को अपनी टी-20 लीग के 10वें सत्र को जनवरी-फरवरी के नियमित समय के बाद मार्च और मई के बीच आयोजित करने के लिए बाध्य होना पड़ रहा है क्योंकि देश को फरवरी 2025 में चैंपियंस ट्राफी की मेजबानी करनी है।

यह पहली बार होगा जब आइपीएल के दौरान किसी टी-20 लीग का आयोजन होगा। यह देखना होगा कि दोनों लीग में खेलने वाले क्रिकेटर किसी लीग को चुनते हैं। चैंपियंस ट्राफी 2025 लगभग 30 साल में पाकिस्तान में आयोजित होने वाली आइसीसी की पहली प्रतियोगिता होगी। पाकिस्तान के दिग्गज पहले ही कह चुके हैं कि जितना पैसा आइपीएल में लगाया जाता है उससे उनके देश के लीग की तुलना नहीं की सकती है। 

Edited By: Viplove Kumar