नई दिल्ली, एजेंसी। भारतीय टीम का इस वक्त इंटरनेशनल क्रिकेट में डंका बज रहा है। टीम इंडिया एक वक्त पर अपने कई सीनियर खिलाड़ियों को आराम देने के बाद भी आयरलैंड, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत का झंडा बुलंद करके लौटी। यह सब टीम इंडिया की बेंच स्ट्रेंथ और घरेलू क्रिकेट में युवाओं को मिल रहे मौके का नतीजा है। भारत-ए टीम आठ महीने में अपना पहला प्रतिस्पर्धा मैच न्यूजीलैंड-ए टीम के विरुद्ध सितंबर-अक्टूबर में खेलेगी जबकि आस्ट्रेलिया की ए टीम नवंबर में भारत दौरे पर आएगी।

एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत-ए कार्यक्रम वीवीएस लक्ष्मण और उनके एनसीए सहयोगी स्टाफ समूह साईराज बहुतुले और सितांशु कोटक द्वारा संचालित किया जाएगा। भारत-ए की टीम ने इससे पहले पिछले साल नवंबर-दिसंबर में दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध ब्लूमफोनटेन में तीन अनौपचारिक टेस्ट मैचों की सीरीज में भाग लिया था।

न्यूजीलैंड की ए टीम इस महीने के आखिर में भारत पहुंच जाएगी। टीम तीन चार-दिवसीय मैचों की सीरीज में भाग लेगी। यह सभी लिस्ट-ए मैच बेंगलुरु में खेले जाएंगे। इस दौरे पर गुलाबी गेंद (डे-नाइट टेस्ट) से भी एक मैच खेला जा सकता है, लेकिन इसके लिए बीसीसीआइ से मंजूरी मिलना बाकी है।

न्यूजीलैंड-ए टीम ने 2017-18 दौरे पर भी विजयवाड़ा में गुलाबी गेंद से एक मैच खेला था। इस दौरे का आयोजन दलीप ट्राफी के साथ होगा जिसे आठ से 25 सितंबर तक खेला जाएगा। बीसीसीआइ क्रिकेट आस्ट्रेलिया से भी ए टीम के भारत दौरे के लिए बात कर रहा है।रिपोर्ट के मुताबिक, बीसीसीआइ क्रिकेट आस्ट्रेलिया के साथ साल के अंत में दौरे के लिए बातचीत कर रहा है। इस दौरे के नवंबर में होने की संभावना है। यह दौरा रणजी ट्राफी की शुरुआत से पहले और बांग्लादेश में होने वाले भारत के अगले टेस्ट कार्यक्रम से पहले होगा। 

Edited By: Viplove Kumar