बैंलगुरू, प्रेट्र। कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) में हुई मैच फिक्सिंग को लेकर पुलिस की जांच जारी है। लगातार इस मामले में कई गिरफ्तारी की जा रही है। पुलिस के शक के घेरे में बड़े बड़े खिलाड़ी भी हैं। इसी मामले में बुधवार को पूर्व रणजी खिलाड़ी और कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) की प्रबंध समिति के एक सदस्य को गिरफ्तार किया गया है।

सुधेंद्र शिंदे को कर्नाटक प्रीमियर लीग (केपीएल) में कथित मैच फिक्सिंग के संबंध में गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने यह जानकारी दी। मैच फिक्सिंग के संबंध में शिंदे से दो दिन तक पूछताछ की गई और फिर उन्हें अंत में गिरफ्तार किया गया। वह केपीएल की एक टीम बेलागावी पैंथर्स के कोच थे। पुलिस अधिकारी ने कहा, "शिंदे ने अली अशफाक तारा के साथ कथित रूप से कुछ मैचों को फिक्स किया था।"

सेंट्रल क्राइम ब्रांच के डिप्टी कमिश्नर और पुलिस कुलदीप जैन ने आईएएनएस से इस बात की पुष्टि की। 2019 में खत्म हुए केपीएल के हालिया एडिशन में शिंदे बेलागावी पैंथर्स टी20 टीम की कोचिंग कर रहे थे। टीम के मालिक अली है और उनको भी गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल तो वह बेल पर बाहर हैं। शिंदे को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा।  

शिंदे को बुधवार को हिरासत में ले जाया जाएगा ताकि अन्य के इसमें शामिल होने के बारे में पूछताछ की जा सके। अभी तक शिंदे सहित नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। तारा इस मामले में गिरफ्तार किए जाने वाले पहले व्यक्ति थे। केपीएल स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण तब सामने आया जब बेलारी टस्कर्स के गेंदबाज भावेश गुलेजा ने पुलिस में अंतरराष्ट्रीय सट्टेबाज सय्याम और भावेश बाफना के खिलाफ शिकायत दर्ज की।

गौरतलब है कि कर्नाटक के स्टार गेंदबाज अभिमन्यू मिथुन को भी इस मामले में पूछताछ के लिए तलब किया गया था। वहीं भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच पूरी होने तक कर्नाटका प्रीमियर लीग के आयोजन पर ही रोक लगाने का फैसला लिया है। 

 

Posted By: Viplove Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस