जागरण न्यूज नेटवर्क, नई दिल्ली। महेंद्र सिंह धौनी (नाबाद 84) की जिंदगी पर बनी फिल्म एमएस धौनी जिसने भी देखी है वह धौनी की अहमियत को अच्छे से जानता होगा। कैसे धौनी टेनिस बॉल से छक्के मारने का अभ्यास करते हैं। इसी अभ्यास में वह हैलीकॉप्टर शॉट मारने में माहिर बन जाते हैं।

रविवार को धौनी की जिंदगी में यह दिन बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में एक बार फिर आया। आखिरी 12 गेंद पर 36 रनों की जरूरत थी, लेकिन धौनी के दिमाग से 12 गेंद में सिर्फ छह छक्कों की बात थी। यकीन मानिए धौनी 12 में से चार गेंद पर छक्का लगा चुके थे, एक चौका भी जड़ चुके थे। तो भला क्रीज पर धौनी के रहते चेन्नई सुपरकिंग्स (सीएसके) मैच कैसे ना जीतती, लेकिन धौनी से आखिरी गेंद पर हुई चूक रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर (आरसीबी) को प्लेऑफ में बने रहने का जीवनदान दे गई और सीएसके को मायूसी।

इतना जरूर तय है कि इस मैच को जब भी याद किया जाएगा, इसमें आरसीबी की जीत से ज्यादा सीएसके की हार के चर्चे होंगे। आरसीबी ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में सात विकेट पर 161 रन बनाए थे। इसके बावजूद जवाब में सीएसके 20 ओवर में आठ विकेट पर 160 रन तक पहुंच गई और सिर्फ एक रन से मैच हार बैठी।

12 गेंद 36 रन

आखिरी 12 गेंद पर सीएसके को 36 रन की जरूरत थी। 19वां ओवर नवदीप सैनी करने आए। पहली दो गेंदों पर धौनी ने जानबूझकर कोई रन नहीं लिया। तीसरी गेंद नो बॉल थी, जिस पर धौनी ने छक्का जड़ दिया। अगली गेंद फ्री हिट थी, लेकिन वह दो रन ही ले पाए। अगली पर धौनी ने फिर कोई रन नहीं लिया। पांचवीं गेंद पर धौनी ने एक रन लिया। छठी गेंद पर ड्वेन ब्रावो (05) आउट हो गए। अब आखिरी ओवर में सीएसके को 26 रन चाहिए थे। ओवर करने उमेश यादव आए। धौनी ने पहली गेंद पर चौका जड़ दिया। उन्होंने अगली दो गेंदों को छह रन के लिए भेजा। चौथी गेंद पर दो रन लिए और पांचवीं गेंद पर फिर छक्का जड़ा। अब एक गेंद पर दो रन चाहिए थे, लेकिन उमेश की स्लो गेंद पर धौनी बल्ला नहीं लगा पाए और रन के लिए दौड़ पड़े, लेकिन विकेटकीपर पार्थिव पटेल ने सीधे थ्रो मारकर शार्दुल ठाकुर (00) को रन आउट कर दिया। इसी के साथ आरसीबी एक रन से यह मैच जीत गई। धौनी ने 48 गेंद में पांच चौके और सात छक्कों की मदद से नाबाद 84 रन बनाए।

सस्ते में गए चार विकेट

सीएसके की टीम 28 रन पर चार विकेट गंवा चुकी थी। सलामी बल्लेबाज शेन वॉटसन (05), फाफ डुप्लेसिस (05), सुरेश रैना (00), केदार जाधव (09) पवेलियन लौट चुके थे। यहां से धौनी ने अंबाती रायुडू (29) के साथ पांचवें विकेट के लिए 55 रन जोड़े। रायुडू को युजवेंद्रा सिंह चहल ने बोल्ड कर दिया। रवींद्र जडेजा (11) भी चलते बने।

नहीं चले कोहली

इससे पहले, टॉस जीतकर सीएसके के कप्तान धौनी ने आरसीबी को पहले बल्लेबाजी करने का न्योता दिया। पिछले मैच में शतक लगाने वाले कप्तान विराट कोहली का बल्ला इस बार नहीं चल सका। तीसरे ही ओवर में कोहली को तेज गेंदबाज दीपक चाहर ने नौ रन पर चलता कर दिया। चोट के बाद वापसी कर रहे एबी डिविलियर्स को जडेजा ने 25 रन पर पवेलियन भेज दिया। अक्शदीप नाथ को भी जडेजा ने 24 रन पर चलता किया।

पार्थिव ने संभाला मोर्चा

आरसीबी को बड़े स्कोर तक पहुंचाने में सबसे बड़ी जिम्मेदारी पार्थिव पटेल ने निभाई, जो एक छोर पर अकेले टिके रहे। सलामी बल्लेबाजी करने पार्थिव 16वें ओवर में आउट हुए। उन्होंने 37 गेंदों पर दो चौकों और चार छक्कों की मदद से 53 रन बनाए। नाथ के जाने के बाद हालांकि पटेल भी ड्वेन ब्रावो की गेंद पर चलते बने। कुछ देर बाद मार्कस स्टोइनिस को भी इमरान ताहिर ने पवेलियन भेज दिया। अंत में हालांकि मोइन अली ने तेजी से 16 गेंद में 26 रन बनाए।

कोहली और धौनी ने भेंट की मालदीव के राष्ट्रपति को जर्सी

आरसीबी के कप्तान विराट कोहली और सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने रविवार को मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मुहम्मद सोलिह को आइपीएल मैच शुरू होने से पहले साइन की हुई जर्सी भेंट की। धौनी ने सोलिह को पीली जर्सी, जबकि कोहली ने लाल और काले रंग की जर्सी भेंट की। इस मौके पर प्रशासकों की समिति की सदस्य डायना इडुल्जी भी मौजूद रहीं। सोलिह पिछले वर्ष नवंबर में मालदीव के राष्ट्रपति बने थे। 

Posted By: Bhupendra Singh