नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने मंगलवार को क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की। 32 वर्षीय बायें हाथ के तेज गेंदबाज आरपी ने ट्विटर पर इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि 13 साल पहले 2005 में मुझे भारतीय टीम की जर्सी पहली बार मिली थी। वह मेरे जीवन का सबसे खुशी वाला लम्हा था। आज मैं संन्यास ले रहा हूं और उन सबको याद करना और धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने मेरे सफर में मेरा साथ दिया। 

आरपी ने छह साल के अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में तीनों प्रारूपों में कुल 82 मैच खेले और 124 विकेट हासिल किए। वह 2007 के टी-20 विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम का अहम हिस्सा थे और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पर्थ में भारत की टेस्ट जीत में उन्होंने अहम भूमिका निभाई। 

आरपी ने लिखा, मैंने सपना पूरा किया। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे यह कहने का मौका मिलेगा क्योंकि मेरा जन्म एक छोटे से गांव में हुआ था। मेरे समर्थकों जिन्होंने मुझ पर भरोसा किया, जिन्होंने मेरी आलोचना की लेकिन सब के बावजूद मेरे लिए हमेशा खड़े रहे, उन्हें मैं धन्यवाद देना चाहता हूं।

आरपी सिंह को भारत के पूर्व कप्तान और सबसे खतरनार फिनिशर महेंद्र सिंह धौनी का खास दोस्त माना जाता है। कहा तो ये भी जाता है कि साल 2008 में जब आरपी खराब फॉर्म से जूझ रहे थे तो धौनी उन्हें टीम में शामिल करने के लिए चयनकर्ताओं से भिड़ गए थे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Lakshya Sharma