नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। टी20 वर्ल्ड कप के दूसरे सेमीफाइनल मैच में टीम इंडिया का सामना इंग्लैंड से होने वाला है। इस टूर्नामेंट में भारत का प्रदर्शन काफी शानदार रहा है। भारत ने 5 में से 4 मैच जीते हैं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत को हार का सामना करना पड़ा। वहीं, इंग्लैंड ने भी पांच में से तीन मैच जीते और सात अंक हासिल किए। इस टीम ने अफगानिस्तान, न्यूजीलैंड और श्रीलंका को हराया। आयरलैंड के खिलाफ उसे हार का सामना करना पड़ा। वहीं, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच बारिश की वजह से रद हो गई। बता दें कि भारत 

और इंग्लैंड के बीच गुरुवार को होने वाले महामुकाबले पर दुनियाभर के क्रिकेट फैंस की नजरें होंगी।

टी20 फॅार्मेट में भारत और इंग्लैंड के बीच अभी तक कुल 22 मैच खेले जा चुके हैं, जहां टीम इंडिया ने 12 और इंग्लैंड ने 10 मैचों में जीत हासिल की है। इसके अलावा अगर टी20 वर्ल्ड कप की बात की जाए तो भारत और इंग्लैंड की टीमें 2007, 2009 और 2012 के टी20 वर्ल्ड कप में भिड़ी हैं। टी20 विश्व कप में खेले गए 3 मुकाबलों में भारत ने 2 और इंग्लैंड ने 1 मैच जीता है।

इंग्लैंड टीम की ताकत

दरअसल इस टूर्नामेंट में इंग्लैंड के पास सबसे अधिक ऑलराउंडर हैं। इंग्लैंड ने ग्रुप 1 में सिर्फ एक बड़ा मैच खेला था, जिसमें उन्होंने न्यूजीलैंड को आसानी से हराया था। इंग्लैंड की गेंदबाजी भी इस टूर्नामेंट में काफी शानदार रही है। टी20 वर्ल्ड कप 2022 में सबसे खतरनाक गेंदबाज मार्क वुड हैं। अफगानिस्तान के खिलाफ उन्होंने 4 ओवर में 149.02 किमी प्रति घंटा की औसत से गेंदबाजी की थी। वहीं, इंग्लैंड का स्पिन अटैक भी काफी शानदार है। मोइन अली और राशिद खान जैसे स्पिनर्स, टीम इंडिया के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं। इंग्लैंड की बल्लेबाजी भी काफी मजबूत है। इस टीम के पास 9वें नंबर तक बल्लेबाज हैं।

इंग्लैंड टीम की कमजोर

इंग्लैंड टीम की बल्लेबाज पावरप्ले का ज्यादा फायदा नहीं उठा पा रहे हैं। इंग्लैंड की तेज गेंदबाजी की रीढ़ कही जाने वाली जोड़ी क्रिस वोक्स और मार्क वुड के खिलाफ विराट कोहली का रिकॉर्ड शानदार रहा है। इस जोड़ी के खिलाफ विराट अब तक अविजीत रहे हैं।

टीम इंडिया की ताकत

इस वर्ल्ड कप में विराट कोहली और सूर्यकुमार यादव शानदार लय में दिख रहे हैं। सूर्या ने इस टूर्नामेंट में अब तक तीन अर्धशतक पारियां खेली है। वहीं, पाकिस्तान के खिलाफ कोहली ने अकेले दम पर मैच जीताकर यह साबित कर दिया है कि वो कितने खतरनाक बल्लेबाज हैं। गेंदाबाजी की बात करें तो इस टूर्नामेंट में मोहम्मद शमी और अर्शदीप सिंह ने शानदार गेंदबाजी की है। वहीं, भुवनेश्वर भी काफी किफायती साबित हुए हैं।

टीम इंडिया की कमजोरी

भारत के लिए सबसे बड़ी परेशानी है कि कप्तान रोहित शर्मा का बल्ला खामोश है। रोहित शर्मा ने इस वर्ल्ड कप में 4, 53, 15,2 और 15 के स्कोर बनाए हैं। भारतीय स्पिनर्स को भी इंग्लैंड के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करना हौगा। अश्विन ने इस टूर्नामेंट में कुछ ज्यादा कमाल नहीं किया है। अनुमान लगाया जा रहा है कि अश्विन की जगह युजवेंद्र चहल को इंग्लैंड के खिलाफ प्लेइंग 11 में शामिल किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें:  Pak vs NZ: गजब के डेरिल मिचेल, T20WC 2021 और 2022 के सेमीफाइनल में अपनी टीम के लगाया अर्धशतक

Edited By: Piyush Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट