Move to Jagran APP

Gautam Gambhir Vs Rahul Dravid Salary: राहुल द्रविड़ से कितना ज्यादा है गंभीर का वेतन, जानिए यहां

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के तौर पर गौतम गंभीर की नियुक्ति की वित्तीय औपचारिकताएं अभी पूरी की जानी बाकी हैं लेकिन इस समय उनके लिए सबसे अहम चीज तीन वर्ष के कार्यकाल के दौरान आने वाली चुनौतियों के लिए तैयार होने के मद्देनजर पसंदीदा सहयोगी स्टाफ रखना है। BCCI सचिव जय शाह ने आधिकारिक रूप से गंभीर की नियुक्ति की घोषणा की।

By Jagran News Edited By: Priyanka Joshi Wed, 10 Jul 2024 10:36 PM (IST)
Gautam Gambhir Salary: राहुल द्रविड़ से ज्यादा है गंभीर का वेतन

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के तौर पर गौतम गंभीर की नियुक्ति की वित्तीय औपचारिकताएं अभी पूरी की जानी बाकी हैं लेकिन इस समय उनके लिए सबसे अहम चीज तीन वर्ष के कार्यकाल के दौरान आने वाली चुनौतियों के लिए तैयार होने के मद्देनजर पसंदीदा सहयोगी स्टाफ रखना है। मंगलवार को भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) सचिव जय शाह ने आधिकारिक रूप से गंभीर की नियुक्ति की घोषणा की, जिसका लंबे समय से पूर्वानुमान लगाया जा रहा था।

हालांकि पता चला है कि उनका वेतन अभी तय किया जाना बाकी है। हालांकि यह उनके पूर्ववर्ती राहुल द्रविड़ और रवि शास्त्री से थोड़ा ज्यादा हो सकता है। राहुल को मुख्य कोच के तौर पर करीब 12 करोड़ रुपये प्रति वर्ष मिलते थे।बीसीसीआइ के एक सूत्र ने कहा,

'गौतम के लिए जिम्मेदारी संभालना ज्यादा महत्वपूर्ण था। अगले एक सप्ताह में वेतन और अन्य चीजों पर बात हो जाएगी। गंभीर को काम करने के लिए अपनी टीम मिलेगी, जो एनसीए (राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी) के कोचों के साथ मिलकर काम करेंगे। लक्ष्मण इस समय युवा टी-20 टीम के साथ जिंबाब्वे में हैं, लेकिन आशा है कि जब वह वापस लौट आएंगे तो वह नए कोच, मुख्य चयनकर्ता अजित अगरकर, दो कप्तान रोहित शर्मा और हार्दिक पांड्या के साथ मिलकर आगे की रणनीति पर चर्चा करेंगे।'

गंभीर के कोर सहयोगी स्टाफ में कौन होगा, इसको लेकर भी काफी दिलचस्पी बनी हुई है। कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) अकादमी के प्रमुख अभिषेक नायर बल्लेबाजी सलाहकार और एल. बालाजी व जहीर खान में से कोई एक गेंदबाजी सलाहकार हो सकता है। क्षेत्ररक्षण कोच टी. दिलीप अपने पद पर बने रह सकते हैं। अभिषेक रोहित शर्मा के करीब दोस्तों में में शामिल हैं। गंभीर के लिए सबसे बड़ी परीक्षा निश्चित रूप से आस्ट्रेलिया दौरा होगा, जहां भारत ने रवि शास्त्री के मार्गदर्शन में 2018-19 और 2020-21 में लगातार टेस्ट सीरीज जीती