नई दिल्ली, जेएनएन। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीबी चंद्रशेखर का गुरुवार की रात निधन हो गया। चंद्रशेखर महज 57 साल के थे और 6 दिन बाद ही वह अपना 58वां जन्मदिन मनाने वाले थे। तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन (टीएनसीए) के एक अधिकारी इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 21 अगस्त को वह 58 साल के होने वाले थे।

तमिलनाडु की तरफ से क्रिकेट खेलने वाले चंद्रशेखर को एक विस्फोटक बल्बेबाज के तौर पर जाना जाता था।रेस्ट ऑफ इंडिया के खिलाफ खेलते हुए चंद्रशेखर ने साल 1988 में महज 56 गेंद पर धुंआधार शतक जमाया था। यह उस वक्त फर्स्टक्लास क्रिकेट में भारत की तरफ से लगाया गया सबसे तेज शतक था।

तमिलनाडु को साल 1987-88 में रणजी ट्रॉफी का खिताब दिलाने में इस ओपनर ने अहम भूमिका निभाई था। क्वार्टर फाइनल मुकाबले में उन्होंने उत्तर प्रदेश के खिलाफ 160 रन जबकि फाइनल में रेलवे के खिलाफ खेलते हुए चंद्रशेखर ने 89 रन बनाए थे।

भारत की तरफ से चंद्रशेखर ने साल 1988 से 1990 के बीच कुल सात वनडे मैच खेले। इसमें उन्होंने महज 88 रन बनाए जिसमें न्यूजीलैंड के खिलाफ 53 रन की पारी उनकी सबसे बड़ी पारी रही।

घरेलू क्रिकेट की बात करें तो चंद्रशेखर ने कुल 81 फर्स्ट क्लास मुकाबलों में 43.09 की औसत से 4999 रन बनाए। इसमें से नाबाद 237 रन की पारी उनके जीवन की सबसे बेहतरीन पारी रही। 

चंद्रशेखर ने इंडियन प्रीमियर लीग में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स के क्रिकेट मैनेजर के तौर पर भी काम किया।

 

Edited By: Viplove Kumar