Move to Jagran APP

Cheteshwar Pujara ने आलोचकों के मुंह पर जड़ा तमाचा, दलीप ट्रॉफी में शतक जमाकर निकाली भड़ास

Pujara century Duleep Trophy भारत के महान टेस्ट खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा को वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम में जगह न मिलने पर अब एक बार पिर उन्होंने कमाल किया है। पुजारा ने दलीप ट्रॉफी में शतक लगाया है। पुजारा ने एक बार फिर साबित कर दिया कि वह टीम में वापसी करने के लिए बेताब हैं। उनकी जगह टीम में यशस्वी जयसवाल को जगह दी गई है।

By Jagran NewsEdited By: Geetika SharmaFri, 07 Jul 2023 04:30 PM (IST)
Cheteshwar Pujara scored century in Duleep Trophy Image twitter

नई दिल्ली, स्पोर्ट्स डेस्क। भारत 12 जुलाई से वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने जा रहा है। सीरीज का पहला मैच बुधवार (12 जुलाई) को रोसेउ (डोमिनिका) के विंडसर पार्क में होगा। बीसीसीआई ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) 2023-25 की पहले विदेशी सीरीज के लिए 16 सदस्यीय टीम की घोषणा की। ऐसे में पिछले महीने ओवल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डब्ल्यूटीसी फाइनल 2023 में खेलने वाली टीम के खिलाड़ियों में कुछ बदलाव किए गए।

पुजारा को नहीं मिली टीम में जगह-

ऐसे में मोहम्मद शमी को पूरे कैरेबियाई दौरे के लिए आराम दिया गया है। तेज गेंदबाज उमेश यादव को चोट के कारण टीम में जगह नहीं मिली, लेकिन टेस्ट स्पेशलिस्ट चेतेश्वर पुजारा को डब्ल्यूटीसी 2023 फाइनल के साथ-साथ बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2023 में खराब प्रदर्शन के कारण टीम से बाहर कर दिया गया। पुजारा की जगह मुंबई के युवा खिलाड़ी यशस्वी जयसवाल और चेन्नई सुपर किंग्स के स्टार रुतुराज गायकवाड़ को पहली बार भारत की टेस्ट टीम में जगह मिली है।

पुजारा ने किया साबित-

जयसवाल सीरीज के शुरुआती मैच में अपना टेस्ट डेब्यू करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। वह ओपनर के रूप में या नंबर तीन पर पुजारा की जगह बल्लेबाजी करेंगे, लेकिन 35 वर्षीय पुजारा ने मौजूदा दलीप ट्रॉफी 2023 में वेस्ट जोन के लिए शानदार प्रदर्शन किया। पुजारा ने साबित किया कि वह टीम में अपनी जगह वापस पाने के लिए बेताब हैं।

पुजारा ने लगाया था शतक-

पुजारा ने अलूर के केएससीए मैदान में सेंट्रल जोन के खिलाफ वेस्ट जोन के लिए दलीप ट्रॉफी 2022 के पहले सेमीफाइनल की दूसरी पारी में शतक बनाया। उन्होंने 278 गेंदों पर 133 रन बनाए और 14 चौके और एक छक्का लगाया।

पुजारा की पारी की बदौलत ही डिफेंडिंग चैंपियन वेस्ट जोन पहले सेमीफाइनल पर मजबूत पकड़ बनाने में कामयाब रहा। उन्होंने 380 रन से ज्यादा बढ़त हासिल की। पुजारा के अलावा सूर्यकुमार यादव, सरफराज खान और पृथ्वी शॉ भी वेस्ट जोन के लिए मैदान पर उतरे, लेकिन बल्ले से कुछ खास कमाल नहीं कर पाए।