नई दिल्ली, जेएनएन। World Cup 2019 भारत (India) के खिलाफ मैच से पहले दक्षिण अफ्रीकी (South Africa) टीम के लिए बुरी खबर आई कि टीम के अनुभवी तेज गेंदबाज डेल स्टेन विश्व कप टूर्नामेंट से बाहर हो गए। टीम के एक और खिलाड़ी लूंगी नगिदी चोट की वजह से 7-8 दिनों तक मैच नहीं खेल पाएंगे। यानी टीम के दो अहम गेंदबाज इस मैच में नहीं खेलेंगे। इसका असर टीम पर तो पड़ेगा और रही-सही कसर पूरी करने के लिए टीम इंडिया में कप्तान विराट मौजूद हैं जिनका रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका के कमाल का रहा है। डूप्लेसि की टीम इस मैच में विराट को जरूर काबू में करने की कोशिश करेंगे क्योंकि अगर वो बेकाबू हो गए तो प्रोटियाज की हार तय है। यानी अगर ये कहें कि विराट दक्षिण अफ्रीका के लिए काल साबित हो सकते हैं तो गलत नहीं होगा। 

आखिरकार विराट कोहली (Virat Kohli) क्यों दक्षिण अफ्रीका के लिए बड़ी मुसीबत साबित हो सकते हैं ये आंकड़े इसका जबाव दो रहे हैं। आखिरी बार भारतीय टीम विराट की कप्तानी में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर गई थी और वनडे सीरीज में टीम इंडिया ने प्रोटियाज को उनकी ही धरती पर 5-1 के बड़े अंतर से हराया था। इस दौरे पर विराट ने अफ्रीकी गेंदबाजों की जमकर क्लास लगाई थी 186.00 की बेहतरीन औसत से कुल 558 रन बनाए थे। विराट अपने इस कामयाब प्रदर्शन की वजह से मैन ऑफ द सीरीज बने थे। विराट कोहली दक्षिण अफ्रीकी अटैक को खेलना पसंद करते हैं और उनके ये आंकड़े इसे सही साबित कर रहे हैं। 

विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अब तक कुल 26 मैच खेले हैं और इसकी 24 पारियों में 66.78 की औसत से 1269 रन बनाए हैं। प्रोटियाज के खिलाफ विराट ने अब तक अपने वनडे करियर में कुल 4 शतक और 6 अर्धशतक लगाए हैं। यानी इस टीम के खिलाफ विराट का खेल और उनका औसत तो यही कहता है कि डूप्लेसी की टीम को उनके संभलकर रहने की जरूरत है। वैसे भी भारतीय क्रिकेट फैंस की भी यही चाहत है कि विराट इस विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ रन बनाकर अच्छी शुरुआत करें ना सिर्फ बल्लेबाज के तौर पर बल्कि कप्तान के तौर पर भी। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjay Savern

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस