श्रीलंका के बायें हाथ के पूर्व तेज गेंदबाज चामिंडा वास का मानना है कि आइपीएल में प्रदर्शन कुछ भी रहा हो, लेकिन विराट कोहली और रोहित शर्मा पर इस साल के अंत में आस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप में भारतीय टीम की खिताबी उम्मीदों का दारोमदार रहेगा। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी घरेलू टी-20 सीरीज के लिए इन दोनों बल्लेबाजों को आराम दिया गया है, लेकिन वास का मानना है कि ये दोनों और भी खतरनाक होकर वापसी करेंगे। आइपीएल, टी-20 विश्व कप और अन्य मुद्दों पर चामिंडा वास से उमेश राजपूत ने खास बातचीत की। पेश हैं प्रमुख अंश :-

-आइपीएल की खिताबी दौड़ में अब सिर्फ तीन टीमें बची हैं। किसे चैंपियन बनने हुए देखना चाहेंगे?

-प्लेआफ में पहुंचने वाली चारों टीमें ही खिताब जीतने की क्षमता रखती हैं। यह दिन विशेष पर निर्भर करता है कि कौन सी टीम कैसा खेलती है। वैसे मेरी पसंदीदा टीम लखनऊ सुपरजाइंट्स थी। अब जो तीन टीमें बची हैं उनमें भी कोई भी टीम विजेता बन सकती है, लेकिन रायल चैलेंजर्स बेंगलुरु और राजस्थान रायल्स की तुलना में मुझे गुजरात टाइटंस का पलड़ा भारी नजर आता है। फाइनल अहमदाबाद में है तो गुजरात को घरेलू मैदान और माहौल का भी फायदा मिलेगा।

-गुजरात और लखनऊ की टीमें पहली बार आइपीएल का हिस्सा बनीं। दोनों के खेल को किस तरह से आंकते हैं?

--इन दोनों ही टीमों ने काफी प्रभावित किया है। एक समय तो ऐसा लग रहा था कि अंक तालिका में ये दोनों ही टीमें शीर्ष पर रहेंगी, लेकिन लखनऊ दुर्भाग्य से तीसरे नंबर पर खिसक गई। मुझे लगता है कि टूर्नामेंट के अंतिम दौर में लखनऊ की किस्मत ने उसका साथ छोड़ दिया, नहीं तो वह फाइनल खेलने की हकदार थी। हार्दिक पांड्या की तरह केएल राहुल ने भी न सिर्फ सूझबूझ भरी कप्तानी की और अपने खिलाडि़यों को बेहतरीन इस्तेमाल किया, बल्कि दोनों ने अपने प्रदर्शन से भी टीम का नेतृत्व किया। दोनों ही टीमें बेहद संतुलित हैं और उनके खिलाडि़यों ने जीत का जज्बा दिखाया।

-इस आइपीएल में कौन से युवा खिलाड़ियों ने आपको प्रभावित किया?

--बल्लेबाजी में मुझे मुंबई इंडियंस के तिलक वर्मा और कोलकाता नाइटराइडर्स के रिंकू सिंह ने, जबकि गेंदबाजी में सनराइजर्स हैदराबाद के उमरान मलिक और लखनऊ के मोहसिन खान ने प्रभावित किया।

-उमरान को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के लिए भारत की टी-20 टीम में शामिल किया गया है। एक तेज गेंदबाज होने के नाते उन्हें कुछ सलाह देना चाहेंगे?

--उमरान लगातार अच्छी और 150 किमी प्रति घंटा से ज्यादा की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे हैं। वह भारतीय क्रिकेट के लिए बड़ी संपत्ति साबित होंगे। उमरान को यह समझना होगा कि सिर्फ रफ्तार ही सब कुछ नहीं है। उन्हें रफ्तार के साथ सही लाइन-लेंथ पर जोर देना चाहिए और अपनी गेंदबाजी में विविधता लाने की कोशिश करनी चाहिए। अभी उनकी उम्र काफी कम है और अनुभव के साथ वह काफी खतरनाक हो जाएंगे। मुझे लगता है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उन्हें टीम में चुनना भारतीय चयनकर्ताओं का अच्छा फैसला है। उन्हें खेलने का मौका मिले या नहीं मिले, लेकिन भारतीय टीम के साथ रहकर उन्हें काफी कुछ सीखने को मिलेगा।

-आप पिछले दिनों मुंबई में कोच ज्वाला सिंह की अकादमी मुंबई क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के कैंप में थे। एमसीसी ने पृथ्वी शा और यशस्वी जायसवाल जैसे क्रिकेटर दिए हैं। इन दोनों के बारे में क्या कहेंगे?

--दोनों ही खिलाड़ियों पर ज्वाला सिंह ने काफी मेहनत की है। दोनों की तकनीक और टाइमिंग शानदार है। पृथ्वी को तो अंतरराष्ट्रीय मंच मिल चुका है, लेकिन उन्हें लगातार अच्छा प्रदर्शन करने और फिटनेस पर ध्यान देने की जरूरत है। न्यूजीलैंड और आस्ट्रेलिया में वह नाकाम रहे थे। मुझे लगता है कि उसके बाद उन्होंने इस पर काम किया होगा कि एशिया के बाहर की पिचों पर किस तरह बल्लेबाजी करनी चाहिए। अभी उनकी उम्र कम है। उन्हें टीम इंडिया में वापसी का मौका जरूर मिलेगा। यशस्वी भी काफी प्रतिभाशाली और मेहनती हैं। आने वाले दिनों में वह भी टीम इंडिया का हिस्सा बनते हैं तो मुझे आश्चर्य नहीं होगा।

-आइपीएल में विराट कोहली और रोहित शर्मा ने निराश किया। टी-20 विश्व कप को देखते हुए इन दोनों की नाकामी भारत के लिए कितनी बड़ी चिंता की बात है?

--आइपीएल की फार्म के आधार पर टी-20 विश्व कप में प्रदर्शन की संभावना के बारे में बात करना सही नहीं है। वैसे भी टूर्नामेंट के अंतिम दौर में विराट ने कुछ अच्छी पारियां खेली हैं। विराट और रोहित दोनों ही मैच विजेता खिलाड़ी हैं। मुझे लगता है कि विश्व कप से पहले दोनों को क्रिकेट से ब्रेक की जरूरत थी और चयनकर्ताओं ने भी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए उन्हें आराम दिया है। इसका उन्हें फायदा मिलेगा और वह तरोताजा होकर न सिर्फ शानदार वापसी करेंगे, बल्कि और भी खतरनाक होंगे। टी-20 विश्व कप में भारत का चैंपियन बनना इन दोनों के प्रदर्शन पर काफी निर्भर करेगा।

--टी-20 विश्व कप के लिए किस टीम का दावा मजबूत नजर आता है?

--आस्ट्रेलिया गत विजेता है और वह इस बार घर में खेलेगी, लेकिन पिछले कुछ वर्षो में भारतीय टीम ने विदेशों में शानदार प्रदर्शन किया है। मैं चाहूंगा कि फाइनल भारत और आस्ट्रेलिया के बीच हो।

Edited By: Sanjay Savern