नई दिल्ली, एएनआइ। लंबे बालों वाले महेंद्र सिंह धौनी ने 23 दिसंबर 2004 को अपना अंतरराष्ट्रीय डेब्यू किया था, लेकिन साल 2005 में 4 महीने के बाद उनके बल्ले से पहला शतक निकला था। साल 2005 मे 5 अप्रैल यानी आज ही के दिन एमएस धौनी ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय शतक जड़ा था। धौनी ने पाकिस्तान के खिलाफ वनडे मैच में पाक गेंदबाजों के परखच्चे उड़ाए थे और पारी में 19 चौके और छक्के जड़े थे।

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान एमएस धौनी ने 5 अप्रैल 2005 को 6 मैचों की वनडे सीरीज के दूसरे मुकाबले में विशाखापट्टनम के डॉक्टर वाइ एस राजशेखर रेड्डी एसीए-वीडीसीए क्रिकेट स्टेडियम में शतक जड़ा था। इस मैच में कप्तान सौरव गांगुली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था, लेकिन चौथे ही ओवर में सचिन तेंदुलकर आउट हो गए थे। ऐसे में नंबर तीन पर एमएस धौनी आए थे।

अब तक 4 मैच नंबर 7 पर बल्लेबाजी करते हुए खेलने वाले एमएस धौनी ने पहली बार नंबर 3 पर बल्लेबाजी की और फिर शतकीय पारी खेली। इस मैच में एमएस धौनी ने 123 गेंदों में 15 चौके और 4 छक्कों की मदद से 148 रन की पारी खेली थी। धौनी ने अपना पहला शतक महज 88 गेंदों में पूरा किया था। दूसरे विकेट के लिए वीरेंद्र सहवाग और एमएस धौनी ने 96 रन की तूफानी साझेदारी की टीम के लिए बड़े स्कोर की नींव रखी।

सहवाग 40 गेंदों में 74 रन बनाकर आउट हुए, जबकि राहुल द्रविड़ ने 52 रन की पारी खेली। इसी के दम पर भारत ने निर्धारित 50 ओवर में 9 विकेट खोकर 356 रन बनाए, जिसके जवाब में पाकिस्तान की टीम 298 रन पर ढेर हो गई और मैच भारतीय टीम ने 58 रन से जीत लिया। एमएस धौनी का ये वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में पहला शतक था और इसके बाद से उन्होंने 350 मैच खेले और कुल 10 शतकीय पारियां खेलीं।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस