नई दिल्ली, जेएनएन। गेंद से छेड़छाड़ मामले में एक वर्ष के बैन के बाद ऑस्ट्रेलियाई विश्व कप टीम में वापसी करने वाले दिग्गज बल्लेबाज स्टीम स्मिथ और डेविड वार्नर के बारे में टीम के कप्तान एरोन फिंच ने कहा कि इन दोनों खिलाड़ियों पिछले 12 महीनों में वही किया जो उनसे करने को कहा गया। ये दोनों खिलाड़ी टीम के साथ काफी अच्छे थे और वो सब कुछ करते थे जो टीम के हित में बेस्ट होता था। बैन के दौरान स्मिथ और वार्नर ने सीए द्वारा दिए गए दिशा निर्देश का पालन किया और अपनी वापसी का इंतजार किया। 

आपको बता दें कि विश्व कप के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम का एलान किया जा चुका है और इन दोनों खिलाड़ियों की टीम में वापसी हो चुकी है। टीम का कमाल एरोन फिंच को सौंपी गई है। बताया जा रहा था कि इनकी वापसी से फिंच को परेशानी हो सकती है लेकिन फिंच ने उनके बारे में बेहतरीन बातें कही और बताया कि उनकी वापसी से टीम और मजबूत हुई है और उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी नहीं है। 

एरोन फिंच ने कहा कि इन दोनों खिलाड़ियों के बैन को खत्म करने को लेकर अपील की बात की जा रही थी लेकिन दोनों ने प्रतिबंध की पूरी सजा पूरी की। इन दोनों ने बैन के दौरान जिस तरह का धैर्य दिखाया वो कमाल का था और फिंच को उनकी वापसी पर कोई संदेह नहीं है। फिंच ने कहा कि मैं दोनों खिलाड़ियों को व्यक्तिगत तौर पर जानता हूं और मुझे नहीं लगता है कि उनकी वापसी पर कोई दिक्कत होगी। दोनों महान खिलाड़ी हैं और बेहतर बल्लेबाज हैं। 

गौरतलब है कि स्मिथ और वार्नर पर पिछले वर्ष मार्च में दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट मैच के दौरान गेंद से छेड़छाड़ के मामले में शामिल होने के लिए एक साल का प्रतिबंध लगाया गया था। इसके अलावा इस मामले में सैंडपेपर के इस्तेमाल की कोशिश करते हुए पकड़े जाने के बाद ऑस्ट्रेलिया कैमरून बेनक्राफ्ट पर भी नौ महीने का प्रतिबंध लगा था। बेनक्रॉफ्ट ने पिछले साल दिसंबर में खुलासा किया था कि वॉर्नर ने केपटाउन टेस्ट में उन्हें गेंद से छेड़खानी के लिए उकसाया था।

विश्व कप के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम: एरोन फिंच (कप्तान), उस्मान ख्वाजा, नाथन लायन, स्टीव स्मिथ, शॉन मार्श, जेसन बेहरनडॉफ, एलेक्स कैरी, मार्कस स्टोइनिस, डेविड वार्नर, नाथन कूल्टर नाइल, पैट कमिंस, ग्लेन मैक्सवेल, एडम जम्पा, झाए रिचर्डसन और मिशेल स्टार्क।

Posted By: Sanjay Savern