नई दिल्ली, जेेएनएन। अगर सीमित ओवर की क्रिकेट की बात करें तो टीम इंडिया के दो खिलाड़ियों का कोई तोड़ नहीं है। ये दो खिलाड़ी है, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल। जब से इन दोनों गेंदबाज ने वनडे और टी-20 टीम में जगह बनाइ है तब से दोनों का प्रदर्शन शानदार रहा है। टीम कोई भी हो, घरेलू जमीं हो या विदेशी इनकी फिरकी हर जगह कमाल कर रही है। ये दोनों ही खिलाड़ी अपनी सफलता का श्रेय भारत के महान कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धौनी को देते हैं। 

ये दोनों ही खिलाड़ी कई बार कह चुके हैं उनका 50 प्रतिशत काम तो धौनी ही कर देते हैं, वह समय समय पर अपनी सलाह देते हैं जिससे काफी फायदा होता है। वैसे भी धौनी काफी शांत रहते हैं लेकिन कुलदीप ने खुलासा करते हुए बताया कि कैसे एक बार धोनी उनके ऊपर बिफर गए थे। द

कुलदीप ने बताया, पिछले साल दिसंबर के महीने में भारत और श्रीलंका के बीच इंदौर में मैच हुआ था। मेरी गेंद की लगतार पिटाई हो रही थी और श्रीलंकन बल्लेबाज केवल छक्के ही मार रहे थे। तब धौनी मेरे पास आए और उन्होंने फील्ड में कुछ बदलाव करने की सलाह दी।

मैंने धोनी को जवाब दिया कि ये एंगल ठीक है तो वह एकदम गुस्सा हो गए, उन्होंने गुस्से में कहा कि मैं क्या पागल हूं जिसने 300 वनडे खेले हैं। इसके बाद मैंने फील्डिंग में बदलाव किया, जिसका फायदा मुझे मिला। उसके बाद मैंने श्रीलंका के 3 बल्लेबाजों को आउट किया।

युजवेंद्र चहल ने भी धौनी के साथ एक वाक्या का जिक्र करते हुए बताया कि जब मैं पहली बार जिम्बाब्वे दौरे के लिए भारतीय टीम में शामिल हुआ तो धौनी भाई को धोनी सर कहता था। एक मैच में उन्होंने 2 ओवर तक सर सुना उसके बाद मुझे बुलाते हुए कहा कि धौनी, एमएसडी या धौनी भाई बोल लेकिन सर मत बोल।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Lakshya Sharma