नई दिल्ली, जेएनएन। इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए पहले टेस्ट मैच में हार के बाद विराट कोहली ने हार की वजह का खुलासा किया। एजबेस्टन टेस्ट में भारत को 31 रन से हार का सामना करना पड़ा। जीत के करीब आकर हार जाने के बाद कोहली ने कहा कि हम और बेहतर कर सकते थे। इसके साथ ही उन्होंने बल्लेबाज़ों की नाकामी की ओर इशारा किया। बर्मिंघम टेस्ट की दोनों पारियों में टीम इंडिया के ओपनर और मध्यक्रम के बल्लेबाज़ों ने निराश ही किया था। कोहली ने दोनों पारियों में शानदार प्रदर्शन किया। दूसरी पारी में हार्दिक पांड्या और दिनेश कार्तिक ने कोशिश जरूर की, लेकिन इन सभी के प्रयास सफल नहीं हो सके। 

इशारों-इशारों में बल्लेबाज़ों को ठहराया हार का जिम्मेदार

हार के बाद विराट कोहली ने कहा कि, सबसे पहले मुझे लगता है कि यह एक बेहतरीन मैच था। इस तरह के  रोमांचक टेस्ट का हिस्सा बनने से खुश हूं। मैच में कई बार हमने वापसी की और शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन इंग्लैंड की टीम ने हमेशा अच्छा खेल दिखाया। उन्होंने हमें रन बनाने के लिए कड़ी मेहनत करने पर मजबूर किया। इसके साथ ही कोहली ने कहा कि निश्चित रूप से इस मैच में हम और बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे।

हमें निचले क्रम के बल्लेबाज़ों से बहुत कुछ सीखने की जरुरत है। उमेश और इशांत ने पहली पारी में जिस तरह से बल्लेबाज़ी की वो काबिलेतारीफ है। इस तरह की चीजें शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को आइना दिखती हैं। हमें नकारात्मक को पीछे छोड़कर सकारात्मक और निडर होना चाहिए। इसके साथ ही कोहली ने कहा कि, हम जिस तरह से इस मैच में खेले मुझे उस पर गर्व है।

कोहली ने किया 'विराट' प्रदर्शन 

इस बड़ी सीरीज़ के पहले मैच में कप्तान कोहली ने शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने पहली पारी में 149 रन का पारी खेलते हुए इंग्लैंड में अपना पहला टेस्ट शतक जड़ा। वहीं दूसरी पारी में विराट ने 51 रन बनाए। दोनों पारियों में वो भारत की ओर से सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले खिलाडी रहे।

हार्दिक ने भी की कोशिश

दूसरी पारी में हार्दिक पांड्या ने 31 रन की पारी खेलकर कोशिश की। विराट कोहली के आउट होने के बाद उन्होंने उमेश यादव के साथ भी अच्छी साझेदारी की। लेकिन जब पांड्या 31 रन बनाकर खेल रहे थे तब वो बेन स्टोक्स की गेंद पर कुक को कैच थमा बैठे। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Pradeep Sehgal