नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय टीम के अंदर मची उठापटक भले ही सामने खुलकर दिखाई नहीं देती है लेकिन छन छन कर खबरें जरूर बाहर या जाती है। गुरुवार को टीम इंडिया के कप्तान ने टी20 विश्व कप के बाद इस फार्मेट की कप्तानी को छोड़ने की घोषणा की। वैसे यह खबर पहले ही सामने आ चुकी थी कि वह टी20 की कप्तानी छोड़ने वाले हैं। अब उनके इस फैसले के बाद यह बात सामने आई है कि उनको टी20 के कप्तान के पद से वैसे भी बीसीसीआइ हटाने वाली थी।

पीटीआइ से बीसीसीआइ के एक सूत्र ने बताया, "विराट को पता है कि अगर टीम यूएई में अच्छा प्रदर्शन नहीं करती तो उन्हें सीमित ओवरों की कप्तान से हटाया जा सकता था। उन्होंने अपने ऊपर से थोड़ा दबाव कम किया है क्योंकि ऐसा लग रहा है कि वह अपनी शर्तो पर यह काम कर रहा था। बीसीसीआइ अगर निकट भविष्य में कोहली से 50 ओवर के प्रारूप की कप्तानी भी ले लेता है तो यह हैरानी भरा नहीं होगा। टी-20 विश्व कप में ट्राफी जीतने में नाकाम रहने के बाद कोहली को 50 ओवर में प्रारूप में भी विशुद्ध बल्लेबाज के रूप में उतरना पड़ सकता है।"

EXCLUSIVE: भारत विश्व कप ट्राफी नहीं जीता, तो जा सकती है विराट कोहली की कप्तानी

दैनिक जागरण ने आइसीसी टी20 विश्व कप की टीम चयन के बाद ही इस बात की जानकारी दी थी कि कोहली की कप्तानी जाने वाली है। यह विश्व कप अगर उनका अच्छा नहीं लगा तो फिर उनको कप्तान के पद से हटा दिया जाएगा। इसके बाद से ही यह बात तमाम मीडिया हाउस में फैली की तीनों फार्मेट की कप्तानी करने वाले कोहली से छोटे फार्मेट की कप्तानी ली जा सकती है। 

विराट के टी20 विश्व कप के बाद इस फार्मेट की कप्तानी छोड़ने के फैसले के बाद बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह के बयान भी अच्छे संकेत नहीं दिए हैं। दोनों में से किसी ने भी उनके 2023 में होने वाले वनडे विश्व कप को लेकर कुछ नहीं कहा। सूत्र ने आगे बताया, "अगर जो आप सौरव और जय के बयान पर ध्यान दें तो दोनों ने ही उनको शुभकामनाएं दी है लेकिन वह 2023 में वनडे विश्व कप टीम की कप्तानी करेंगे या नहीं इस पर एक शब्द भी नहीं कहा। इससे यह साफ हो जाता है कि उनकी वनडे कप्तानी पर भी कोई फैसला लिया जा सकता है।"

Edited By: Viplove Kumar