संतोष शुक्ल, मेरठ। सर डान ब्रेडमैन से किसी की तुलना बेमानी है, किंतु आधुनिक युग में विराट कोहली क्रिकेट के बादशाह हैं। उनमें रनों की जबरदस्त भूख है और तेवर बेहद आक्रामक है। ऐसा लगता है कि वह क्रिकेट में रिकार्डो के भी बादशाह बन जाएंगे। उक्त बातें आस्ट्रेलिया के दिग्गज आलराउंडर रहे शेन वाटसन ने खेल का सामान बनाने वाली एक कंपनी में साक्षात्कार के दौरान कहीं।

वाटसन ने कहा कि टी-20 ने क्रिकेट को और मनोरंजक बनाया है। इसके चलते क्रिकेट से जुड़ने वालों की तादाद में भारी इजाफा हुआ है। दर्शक भी ताबड़तोड़ रन बनते देखना चाहते हैं। इसी वजह से बल्लेबाज हावी नजर आते हैं। किंतु टेस्ट क्रिकेट का अपना आकर्षण है, जो बरकरार रहेगा। जब उनसे पूछा गया कि आज की क्रिकेट में रिचर्ड हेडली, शेन वार्न और और वसीम अकरम जैसे गेंदबाज क्यों नजर नहीं आते? उन्होंने कहा कि ये बिल्कुल सही बात है। आज गेंदबाज को क्वालिटी से ज्यादा रन रोकने पर फोकस करना पड़ता है। हेडली, वसीम के जमाने में लंबे स्पेल वाली क्रिकेट थी, किंतु अब बॉलर को इतनी गेंद नहीं मिलतीं। इस वजह से गेंदबाजों की गुणवत्ता खत्म हो रही है।

उन्होंने भुवनेश्वर कुमार को बेहद प्रतिभाशाली तेज गेंदबाज बताया। कहा कि वह गेंद को दोनों तरफ स्विंग कराने में महारत रखते हैं। हाल में उन्होंने अपनी स्पीड बढ़ाने से वह और घातक हो गए हैं। क्या आने ऑल टाइम प्लेइंग इलेवन बनाई है? उसे साझा करना चाहेंगे? के सवाल पर उन्होंने कहा कि नहीं, उन्होंने इस पर कभी गंभीरता से नहीं सोचा। हां, अगर कभी बना तो पहला नाम शेन वार्न का होगा। गेंदबाजी की कमान मैकग्राथ और वसीम को सौंपना चाहूंगा।

Posted By: Sanjay Savern