नई दिल्ली, एएनआइ। जब से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर कैमरन बेनक्रॉफ्ट ने खुलासा किया है कि सैंडपेपर गेट के बारे में तीन से अधिक लोगों को जानकारी थी, तब से क्रिकेट की दुनिया में यह विवाद एक बार फिर चर्चा का विषय बन गया है। इस बीच खबर है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) की इंटेइग्रिटी टीम ने दाएं हाथ के बल्लेबाज से संपर्क साधा है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि  क्या उनके पास इस मामले को लेकर और अधिक जानकारी है। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के सूत्रों ने एएनआइ को पुष्टि की कि इंटेग्रिटी टीम ने वास्तव में  बेनक्रॉफ्ट से संपर्क किया है और फिलहाल वे उनके जवाब का इंतजार कर रहे हैं।

मामले को लेकर तब ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर के साथ-साथ बेनक्रॉफ्ट भी बैन झेल चुके हैं। वह इस वक्त इंग्लैंड में हैं और वहां काउंटी क्रिकेट खेल रहे हैं। पिछले दिनों द गार्जियन को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि तीन से अधिक लोगों को गेंद से छेड़खानी के बारे में जानकारी थी। उन्होंने कहा कि वे इतना ही चाहता थे कि वे अपनी हरकत और भूमिका को लेकर जवाबदेह और जिम्मेदार रहें। निश्चित रूप पर उन्होंने जो किया उससे दूसरे गेंदबाजों को फायदा मिला और उन्हें इसकी जानकारी थी। यह अपने आप में स्पष्ट है। न्यूलैंड्स में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजी आक्रमण में मिशेल स्टार्क, पैट कमिंस और जोश हेजलवुड थे।

बता दें कि बेनक्रॉफ्ट दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2018 में तीसरे टेस्ट के दौरान गेंद पर सैंडपेपर रगड़ते हुए कैमरे में कैद हो गए थे। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने साहसिक कदम उठाते हुए स्मिथ और वार्नर को कप्तान और टीम के उप-कप्तान के रूप में हटा दिया। बाद में, ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड ने स्मिथ और वार्नर दोनों पर एक साल का प्रतिबंध लगाया, जबकि बैनक्रॉफ्ट को नौ महीने का बैन लगाया गया। इस प्रकरण के बाद ऑस्ट्रेलिया के कोच डैरेन लेहमैन ने भी इस्तीफा दे दिया था।