मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

दुबई, प्रेट्र। भारतीय कप्तान विराट कोहली और सीमित ओवरों की टीम के उप कप्तान रोहित शर्मा के बीच मतभेद की अटकलों को खारिज करने की कोशिश करते हुए मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा कि नजरिये में अंतर को मतभेद के रूप में नहीं देखा जा सकता है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि दोनों खिलाड़ियों के बीच विचारों का अंतर जरूर है, लेकिन किसी भी तरह का मतभेद नहीं है। 

पहले भी दोनों सीनियर खिलाडि़यों के बीच मतभेद की खबरों को बकवास करार दे चुके शास्त्री से एक बार फिर इस बारे में पूछा गया। शास्त्री ने कहा कि टीम में जब 15 खिलाड़ी होते हैं तो हमेशा ऐसा समय आता है जब नजरिये में अंतर होता है। इसकी जरूरत भी है। मैं नहीं चाहता कि सभी एक ही बात बोलें। चर्चाएं होनी चाहिए और तभी कोई किसी नई रणनीति के बारे में सोच सकता है जिसे बढ़ावा दिया जाना चाहिए इसलिए आपको खिलाडि़यों को खुद को अभिव्यक्त करने का मौका देना होगा और फिर फैसला करना होगा कि क्या सबसे सही है।' शास्त्री ने कहा, 'कभी-कभी यह टीम का सबसे जूनियर खिलाड़ी हो सकता है जो ऐसी रणनीति सामने रख सकता है जिसके बारे में हमने सोचा भी नहीं हो और हमें इस पर विचार करने की जरूरत है इसलिए इसे मतभेद के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए।'

भारतीय टीम के कैरेबियाई दौरे पर रवाना होने से पहले कोहली ने भी मतभेद की खबरों को खारिज किया था। टी-20 विश्व कप 2021 तक फिर से भारतीय टीम के कोच नियुक्त किए गए शास्त्री ने कहा, 'मैं पिछले पांच साल से ड्रेसिंग रूम का हिस्सा हूं। मैंने देखा है कि लड़के कैसे खेल रहे हैं और वे कैसे टीम को मजबूत बना रहे हैं और उन्हें अपने काम की नैतिकता का पता है। अगर ऐसा होता तो रोहित विश्व कप में पांच शतक कैसे बनाता? विराट वह कैसे करता जो वह कर रहा है? वे एक साथ साझेदारी कैसे बनाते?'

ऐसे अफवाह से टीम पर किसी प्रकार के असर के सवाल पर शास्त्री ने कहा कि अगर टीम पिछले पांच वर्षो से इस स्तर का खेल दिखा रही है तो मुझे लगता है कि आपको टीम के साथ खड़ा होने की जरूरत है। आपको परेशानी बढ़ाने के बजाय टीम के साथ रहना चाहिए। टीम की ऐसी निरंतरता मैंने किसी समय में नहीं देखी। आप देखिए हमने टी-20, वनडे, टेस्ट और यहां तक की आइसीसी की प्रतियोगिताओं में किस तरह का प्रदर्शन किया है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें
 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप