मुंबई, प्रेट्र। पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने कहा कि वह आइपीएल में बल्लेबाजी क्रम में निचले क्रम के बजाए ऊपरी क्रम में बल्लेबाजी करना चाहते थे क्योंकि निचले क्रम में बल्लेबाजी करने से वह फंसा हुआ महसूस करते थे। आइपीएल के 11वें सत्र में चेन्नई सुपर किंग्स को तीसरा खिताब दिलाने वाले धौनी ने कहा कि कुछ साल पहले जब मैंने टेस्ट क्रिकेट छोड़ दिया तब मेरी फिटनेस पर बात चर्चा शुरू हुई। आइपीएल में हम अपनी टीम बनाने के लिए बैठे थे।

धौनी ने बताया कि मुझे यकीन था कि मैं ऊपरी क्रम पर बल्लेबाजी करना चाहता था। क्योंकि उम्र के हिसाब से मेरे लिए निचले क्रम पर बल्लेबाजी करना फंसाव जैसा था। जल्द ही 37 साल के होने जा रहे चेन्नई के कप्तान धौनी ने कहा कि मैं यह सुनिश्चित करना चाहता था कि मैं मैच जीताने की जिम्मेदारी लेना चाहता हूं लेकिन मैं इतना नीचे बल्लेबाजी करने आ रहा था कि मैं खुद को समय नहीं दे पाता था। इसलिए मैंने कहा कि मैं एक ऐसी टीम बनाना चाहता हूं जिसकी बल्लेबाजी में गहराई हो और जो मुझे बल्लेबाजी क्रम में ऊपर खेलने का मौका दे।

उन्होंने बताया कि मैं बल्लेबाजी क्रम में ऊपर खेलना चाहता था ताकि मैं इससे बाहर निकल सकूं और खुलकर बल्लेबाजी कर सकूं। यह दूसरे खिलाडि़यों को उन्हें एक मैच फिनिशर की भूमिका निभाने का मौका देता था। सौभाग्य से हमने अपने बल्लेबाजी क्रम को पूरे आइपीएल में पूरी तरह से इस्तेमाल नहीं किया।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

By Ravindra Pratap Sing