Move to Jagran APP

'साल भर पहले तक करियर खत्म होने के बारे में पूछते थे और अब मुझे सर्वश्रेष्ठ कहते हैं', Jasprit Bumrah का आलोचकों को करारा जवाब

भारतीय टीम के स्‍टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने पाकिस्‍तान के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करने के बाद अपने आलोचकों को करारा जवाब दिया है। बुमराह ने पाकिस्‍तान के खिलाफ 14 रन देकर तीन विकेट झटके। बुमराह के शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ने पाकिस्‍तान को 6 रन से मात दी। बुमराह को शानदार प्रदर्शन के लिए प्‍लेयर ऑफ द मैच चुना गया।

By Jagran News Edited By: Abhishek Nigam Published: Tue, 11 Jun 2024 07:00 AM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 07:00 AM (IST)
जसप्रीत बुमराह ने आलोचकों को दिया करारा जवाब

विशेष संवाददाता, जागरण न्‍यूयॉर्क। भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने वापसी करने की उनकी काबिलियत पर शक करने वाले लोगों पर निशाना साधते हुए कहा, ''एक साल पहले तक ये ही लोग कह रहे थे कि मैं शायद फिर दोबारा नहीं खेल पाऊंगा और मेरा करियर खत्म हो गया है, लेकिन अब यह सवाल बदल गया है।''

पाकिस्‍तान के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करने के बाद बुमराह ने कहा, ''मैं मैच में इस चीज पर ध्यान नहीं देता कि मैं अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता से गेंदबाजी कर रहा हूं या नहीं, बल्कि मैं मैच में मौजूद समस्या का निदान करने की कोशिश करता हूं। मैं जानता हूं कि यह घिसा पिटा जवाब है। लेकिन मैं इसी पर फोकस करने की कोशिश कर रहा था कि इस तरह के विकेट पर यहां सर्वश्रेष्ठ विकल्प क्या है।''

उन्‍होंने कहा, ''मैं ये सोचता हूं कि मैं शॉट लगाना कितना मुश्किल बना दूं? मेरे लिए सर्वश्रेष्ठ विकल्प क्या हैं? इस तरह मैं वर्तमान में रहने की कोशिश करता हूं कि और मुझे क्या करना है, इस पर फोकस करता हूं।''

परिस्थितियों का उठा रहे लाभ

पाकिस्तान जैसे भावनाओं से भरे बड़े मुकाबले में बाहर के शोर के दबाव पर बुमराह ने कहा कि अगर मैं बाहर का शोर देखूंगा, लोगों को देखूंगा तो दबाव और भावनाएं हावी हो जाएंगी। फिर मेरे लिए चीजें काम नहीं करेंगी। आईपीएल पिछले महीने ही खत्म हुआ है और टी-20 विश्व कप खेलने आई भारतीय गेंदबाजी इकाई इसके कारण थकी नहीं दिख रही है।

यह भी पढ़ें: जीतते-जीतते कैसे हार गया पाकिस्तान, एक गेंद ने पलट दिया मैच, जानिए क्या रहा मैच का बड़ा टर्निंग प्वाइंट

उन्होंने कहा, ''आईपीएल गेंदबाजों के मुफीद नहीं था, लेकिन हम खुश हैं कि हम थकान के साथ यहां नहीं आए हैं और हमें जब भी यहां मदद मिल रही है तो हम इसका इस्तेमाल करने की कोशिश कर रहे हैं।''

छोटे स्‍कोर पर इस बात का रखा ध्‍यान

कम स्कोर वाले मैचों में अक्सर तेज गेंदबाज अलग तरह की गेंद जैसे यॉर्कर या बाउंसर आजमाने की कोशिश करते हैं, लेकिन बुमराह का कहना है कि अगर हम जादुई गेंद डालने के लिए बेताब होने की कोशिश करेंगे तो रन बनाना आसान हो जाएगा और कम स्कोर को देखते हुए हमें परिस्थितियों देखकर इनकी अति नहीं करनी चाहिए।

भारतीय तेज गेंदबाज ने कहा, ''जब भी मदद मिलती है तो आप अति उत्साही हो सकते हो। आप बल्लेबाज को लुभाने के लिए बाउंसर, आउट स्विंगर, इन स्विंगर डाल सकते हो, लेकिन आपको ऐसा करने की जरूरत नहीं है। मैंने यही सीखा है। पिच से मदद पर उन्होंने कहा कि इस मैच में ऐसा ज्यादा नहीं हो रहा था। हमने दबाव जरूर बनाया था। थोड़ा 'लेटरल मूवमेंट' था लेकिन पिछले मैच की तरह इतना ज्यादा नहीं था।''

टी-20 विश्व कप में बुमराह

  • मैच : 12
  • गेंद : 274
  • मेडन : 2
  • विकेट : 16
  • औसत : 16.75
  • सर्वश्रेष्ठ : 3/14

टी-20 में बुमराह

  • मैच : 64
  • पारी : 63
  • गेंद : 1373
  • विकेट : 79
  • औसत : 18.67
  • सर्वश्रेष्ठ : 3/11

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान को पटकने के बाद जसप्रीत बुमराह ने पत्नी को दिया इंटरव्यू, जाते-जाते कह दी ऐसी बात, संजना नहीं रोक पाईं हंसी


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.