नई दिल्ली, जेएनएन। बात दिसंबर 2006 की है। मैदान था दिल्ली का फिरोज शाह कोटला, जहां दिल्ली बनाम कर्नाटक रणजी ट्रॉफी मैच चल रहा था। दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर दिल्ली पर हार का संकट मंडरा रहा था और वह फॉलोऑन बचाने के लिए संघर्ष कर रही थी, लेकिन 18 साल का एक लड़का 40 रन बनाकर एक छोर पर डटा था। अगले दिन उसी लड़के को पुनीत बिष्ट के साथ मिलकर दिल्ली की पारी को आगे बढ़ाना था लेकिन, रात करीब तीन बजे उस लड़के के पास घर से फोन आता है कि उसके पिता की मौत हो गई है।

जब यह खबर टीम के साथियों को पता चलती है तो वे भी उस लड़के को मैच छोड़कर घर लौटने को कहते हैं, लेकिन वह कुछ और ही ठाने हुए था। वह मैदान पर उतरता है और कुल 90 रन बनाकर आउट होता है। वह शतक से जरूर चूक जाता है, लेकिन दिल्ली की हार टाल देता है। उसके बाद वह घर लौटता है और पिता का अंतिम संस्कार करता है। यह कहानी नहीं, बल्कि सच्ची दास्तां है जिसमें वह लड़का कोई और नहीं भारतीय टीम के कप्तान और आज के दौर के सबसे खतरनाक, विश्वसनीय एवं आकर्षक बल्लेबाज विराट कोहली हैं। आज हर कोई कोहली जैसा बल्लेबाज बनना चाहता है, लेकिन यह दास्तां साबित करती है कि यूं ही कोई विराट कोहली नहीं बन जाता है।

विराट के पिता प्रेम कोहली वकील थे, जबकि उनकी मां सरोज एक गृहणी हैं। विराट के परिवार में उनके एक बड़े भाई विकास और बड़ी बहन भावना हैं। विराट ने तीन साल की उम्र में ही बल्ला थाम लिया था। दिल्ली के उत्तम नगर में पले-बढ़े विराट नौ साल की उम्र में वेस्ट दिल्ली क्रिकेट अकादमी से जुड़े। अपनी कप्तानी में साल 2008 में खेले गए अंडर-19 विश्व कप में भारत को चैंपियन बनाने के बाद विराट को टीम इंडिया में आने के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ा।

कोहली ने 18 अगस्त 2008 को दांबुला में श्रीलंका के खिलाफ वनडे पदार्पण किया था। आज 11 साल का अंतरराष्ट्रीय करियर बीतने के बाद वह रिकॉर्डो के सरताज बन गए हैं। कोहली अब तक 21000 से अधिक अंतरराष्ट्रीय रन बना चुके हैं और इस दौरान उन्होंने 69 शतक भी जड़े हैं। इसके बावजूद उनके अंदर रनों की भूख कायम है।

रणजी के उस मैच के बाद कोहली को एक अलग पहचान मिली। सभी मानते थे कि उनके अंदर प्रतिभा है, लेकिन उस मैच के बाद सभी उनके खेल के प्रति जज्बे और समर्पण के भी कायल हो गए। खुद महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर भी कोहली के सबसे बड़े प्रशंसकों में से एक हैं। कोहली मंगलवार को 31 साल के हो गए। उन्होंने अपना जन्मदिन पत्नी अनुष्का शर्मा के साथ भूटान में मनाया। कई लोगों ने विराट को जन्मदिन की बधाई दी, जिनका शुक्रिया अदा करते हुए विराट ने अनुष्का के साथ एक प्यारी सी तस्वीर भी पोस्ट की। इस तस्वीर में वह सुबह की चाय की चुस्की का आनंद ले रहे हैं।

टीम इंडिया के युवा खिलाड़ी श्रेयस अय्यर ने विराट के संग अपनी दो फोटो साझा की हैं। और लिखा, 'हैप्पी बर्थडे स्किप (कप्तान)।'

'आपको जन्मदिन की ढेर सारी शुभकामनाएं विराट। ऐसे ही रन बरसाना जारी रखें और इसी जुनून के साथ भारत का नेतृत्व करें। शुभकामनाएं।' -सचिन तेंदुलकर

'गेंद हमेशा ही आपको इतनी ही बड़ी दिखे और आपकी बल्लेबाजी हमेशा ही एफ-5 बटन जैसी हो, जो भी बल्लेबाजी देखे वह रिफ्रेश हो जाए। बादलों की तरह छाए रहो। हमेशा खुश रहो।' -वीरेंद्र सहवाग

'जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई प्रिय विराट कोहली। आपके लिए आने वाला साल सभी खुशियों भरा और सूरज की तरह चमकदार हो। उम्मीद करता हूं कि आप यूं ही नए मानदंड स्थापित करते रहें और आपको हमेशा प्यार और खुशियां मिले।' -वीवीएस लक्ष्मण

'2012 में जब मैं आरसीबी के लिए खेला था, तब उनके लैपटॉप में बार्सिलोना का खेल देखा था। तब मैंने सोचा था कि उनमें खुद को लेकर कुछ खास है, लेकिन तब मैं यह नहीं जानता था कि वह दिग्गज बनेंगे। जन्मदिन की शुभकामनाएं विराट कोहली।' -मुहम्मद कैफ

'टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली 31 के हो गए हैं। इस मौके पर हम पीछे मुड़कर उनके पहले वनडे शतक को देखते हैं और यहीं से यह रन मशीन शुरू हुई थी।' -बीसीसीआइ

'हैप्पी बर्थडे मेरे छोटे वीर विराट कोहली, नई पीढ़ी का बैटिंग मास्टर, मैं मैदान के अंदर और बाहर आपके लिए सारी सफलताओं की कामना करता हूं। वाहे गुरु आपको सब कुछ देता रहे। आप खुश रहें और स्वस्थ रहें। हैप्पी बर्थडे विराट।' -हरभजन सिंह

रिषभ पंत ने विराट को अनोखे अंदाज में विश किया और लिखा हैप्पी बर्थडे चाचा, हमेशा मुस्कुराते रहें। 

 Happy birthday chachaaa😬😬 @imVkohli always keep smiling 🎂 pic.twitter.com/i4s69d2ixS

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप