नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पर्थ में खेले गए टेस्ट में भारत को 146 रन का सामना करना पड़ा। भारत के सामने था 287 रन का लक्ष्य था, जिसके जवाब में टीम इंडिया 140 रन पर सिमट गई। इस मैच में टॉस के वक्त से ही चर्चा हो रही थी कि क्या भारत को रवींद्र जडेजा को टीम में शामिल किया जाना चाहिए था या नहीं।

अब मैच हारने के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने इस फैसले पर सफाई देते हुए कहा कि पर्थ के नए मैदान की पिच देखने के बाद हमारे दिमाग में एक बार भी नहीं आया कि हमे स्पिनर्स के साथ खेलना चाहिए। कोहली ने कहा कि जब हमने पिच देखी तो जडेजा को विकल्प के बारे में नहीं सोचा। हमारे दिमाग में यही था कि इस पिच पर 4 तेज गेंदबाज ही काफी होंगे।

इसके अलावा उन्होंने नाथन लियोन की गेंदबाजी के बारे में कहा कि बेशक लियोन ने अच्छी गेंदबाजी की लेकिन फिर भी मैं यही कहूंगा कि हमने स्पिनर्स को खिलाने के बारे में सोचा ही नहीं था। इस मैच में लियोन ने 8 विकेट लिए, वहीं भारत ने पार्ट टाइमर हनुमा विहारी से काम चलाया।

विराट ने हार के बाद कहा कि बतौर टीम हम टुकड़ो में अच्छा खेले और ये हमारे लिए अच्छी बात है, यही चीज हम आगे आने वाले मैचों में अपनाएंगे। हालांकि कोहली ने ये भी माना कि ऑस्ट्रेलिया हमसे बेहतर क्रिकेट खेली और वो जीत के हकदार हैं। शायद हम 30-40 कम रनों का पीछा करना पसंद करते। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज लंबे समय तक टिके रहे और बोर्ड पर रन लगाए।

वहीं तेज गेंदबाजों के बारे में कोहली ने कहा कि हमारे तेज गेंदबाजों ने बहुत अच्छी गेंदबाजी की। कोहली ने कहा कि ये देखना अच्छा है कि हमारे गेंदबाज लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, खासकर दूसरी पारी में उन्होंने जिस तरह गेंदबाजी की, वह काबिलेतारीफ है।

कोहली ने कहा कि मैं मानता हूं कि हम अच्छा खेले लेकिन इस बार ऑस्ट्रेलिया हमसे ज्यादा अच्छा खेला। हम उम्मीद करते हैं कि आने वाले टेस्ट मैचों में हम अच्छा प्रदर्शन करेंगे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Lakshya Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस