नॉटिंघम, एएफपी। वनडे में अपनी टीम के रनों का नया रिकॉर्ड बनाने के बाद इंग्लैंड के वनडे कप्तान इयोन मोर्गन ने कहा कि उनकी नजर अब 500 के जादुई नंबर पर है। इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ट्रेंट ब्रिज में तीसरे वनडे मैच में छह विकेट पर 481 रन बनाकर सर्वकालिक रिकॉर्ड बनाया। इस विशाल स्कोर के चलते उसने ऑस्ट्रेलिया को 242 रनों से हराकर पांच मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त बना ली।

मोर्गन ने कहा, 'मुझे लगता है कि हम पिछले मैच में 500 के काफी करीब थे।' अगर 48वें ओवर में दो लगातार गेंदों पर हेल्स और मोर्गन के विकेट न गिरते तो इंग्लैंड संभवत: 500 का आंकड़ा छू सकता था। दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 124 रनों की साझेदारी हुई थी।

मैन ऑफ द मैच रहे एलेक्स हेल्स ने इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा 147 रन बनाए। अभी तक वनडे में सर्वाधिक रनों का रिकॉर्ड भी इंग्लैंड के ही नाम था। उसने नॉटिंघम में ही 2016 में पाकिस्तान के खिलाफ तीन विकेट पर 444 रन बनाए थे। हेल्स न उस मैच में भी 171 रनों की शानदार पारी खेली थी।

अंतिम दो वनडे के लिए कुरन और ओवर्टन टीम में

पांच मैचों की वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलिया से सीरीज़ जीतने के बाद इंग्लैंड ने अंतिम दो मैचों के लिए तेज गेंदबाजों सैम कुरन और क्रेग ओवर्टन को टीम में शामिल किया है। इसका एलान इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने बुधवार को किया।

फीफा के शेड्यूल के लिए यहां क्लिक करें

मंगलवार को इंग्लैंड ने 481 रनों का विश्व रिकॉर्ड बनाकर सीरीज में 3-0 से बढ़त बना ली है। स्पिन गेंदबाजों आदिल रशीद और मोईन अली ने सात विकेट लेकर ऑस्ट्रेलिया के 242 बड़े अंतर से हराने में मदद की। यह रनों के लिहाज से इंग्लैंड की सबसे बड़ी जीत और ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी हार थी।

फीफा की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

इंग्लैंड के दोनों तेज गेंदबाज और ऑल राउंडर बेन स्टोक्स और क्रिस वोक्स चोट के चलते सीरीज में नहीं खेल रहे हैं। यही वजह है कि इंग्लैंड ने अंतिम दो वनडे में अपनी तेज गेंदबाजी की धार को पैना करने का फैसला लिया है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Edited By: Pradeep Sehgal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट