नई दिल्ली, जेएनएन। भारत और इंग्लैंड के बीच पहले टेस्ट में भारत को 31 रन से हार का सामना करना पड़ा। इस हार का पूरा जिम्मेदार भारतीय बल्लेबाजों को माना जा रहा है जो दोनों ही पारियों में फ्लॉप रहे। लेकिन अपनी फिरकी में अंग्रेज बल्लेबाज को घुमाने वाले आर अश्विन को ऐसा नहीं लगता।

मैच के बाद अश्विन ने कहा कि एजबेस्टन की पिच चुनौतीपूर्ण थी। इस पिच पर दोनों ही टीमों के बल्लेबाज संघर्ष करते नजर आए। अश्विन ने कहा हम भले ही हार गए हो लेकिन इस टेस्ट से हमे कई पॉजीटिव पहलू मिले।

अश्विन ने कहा कि आपको अपने प्रदर्शन की खुशी तभी मिलती है जब आपकी टीम को जीत मिलती है। आप जब विकेट लो तो उससे विरोधी टीम को नुकसान होना चाहिए। अगर आप विकेट ले और आपकी टीम को हार का सामना करना पड़े तो ये काफी निराशाजनक है। ये मैच भी उतार चढ़ाव वाला रहा। अश्विन ने कहा कि मैच में हमने कई बार पिछड़ने के बाद वापसी की जिस पर हमे गर्व है। मैं पूरी तरह से हताश नहीं हूं। 

जब अश्विन से 194 रन के लक्ष्य को हासिल ना कर पाने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सच में पिच बल्लेबाजी के लिए कठिन थी। अगर रूट, बेयरस्टो और विराट कोहली को छोड़ दिया जाए तो दोनों टीमों के सभी बल्लेबाज फेल रहे। इसीलिए बल्लेबाजों को हार का जिम्मेदार मानना सही नहीं है। इस मैच को हम जीत सकते थे और जीतना चाहते थे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। ये टेस्ट सीरीज काफी लंबी है इसलिए दुखी होने से कुछ नहीं होता, आपको आगे के लिए तैयारी करनी होगी।   

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Lakshya Sharma