रायपुर, निप्र। राजधानी के टिकरापारा स्थित पुजारी चेंबर भारतीय स्टेट बैंक शाखा की महिला कैशियर ने रिसाइकलर मशीन [ रकम जमा व निकालने की मशीन ] में जमा रकम को कम बताकर पांच माह में 14 लाख 55 हजार रुपए अपने पति और जेठ के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए। यह मामला सामने आया तो बैंक के क्षेत्रीय सहायक प्रबंधक की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने अमानत में खयानत का अपराध कायम कर लिया है।

नोटबंदी से पैदा हुए हालात फरवरी के अंत तक होंगे सामान्य: अरुंधती भट्टाचार्य

पुरानी बस्ती सीएसपी राजीव शर्मा ने बताया कि बैरनबाजार स्थित स्टेट बैंक के सहायक महाप्रबंधक क्षेत्र क्रमांक एक के प्रशासनिक कार्यालय के क्षेत्रीय प्रबंधक सनत कुमार ने लिखित में शिकायत की थी। शिकायत में कहा गया कि स्टेट बैंक की पुजारी चेम्बर टिकरापारा शाखा में पदस्थ कैशियर प्रियंका नायक पति अजय नायक निवासी 95 सालासार ग्रीन सरोना [ आमानाका ] रिसाइकलर मशीन की इंचार्ज थी। वह 30 जनवरी, 2016 से 2 मई, 2016 के बीच ग्राहकों द्वारा मशीन में जमा कराई गई रकम में से कुछ रकम चुपके से निकालती रही। फिर उसने कुल 14 लाख 55 हजार रुपए अपने पति अजय नायक और जेठ के बैंक अकाउंट में जमा करके बैंक को लाखों का आर्थिक नुकसान पहुंचाया।

प्रारंभिक जांच में शिकायत सही पाए जाने पर कोतवाली पुलिस ने रविवार को कैशियर प्रियंका के खिलाफ अमानत में खयानत की धारा 409 के तहत अपराध कायम कर लिया। फिलहाल आरोपी बनाई गई कैशियर लंबे अवकाश पर है। उसके खिलाफ बैंक प्रबंधन अलग से विभागीय जांच करा रहा है।
ऐसे हुआ खुलासा
इसका भांडा तब फूटा, जब बैंक ने मशीन में जमा की गई रोज की रकम का विवरण निकाला। मशीन में जमा रकम और कैशियर द्वारा दिए गए हिसाब में काफी अंतर पाए जाने पर बैंक में ह़डकंप मच गया। इसके बाद बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे की वीडियो रिकॉर्डिंग खंगालने पर कैशियर की सारी हरकतें फुटेज से सामने आईं। बैंक अधिकारियों ने जांच की तो पाया कि कैशियर ने पांच महीने के भीतर 14 लाख 55 हजार रुपए मशीन से निकालकर अपने पति और जेठ के उसी बैंक में खोले गए अकाउंट जमा कराया है। पूछताछ में प्रियंका ने पैसा निकालकर जमा करना स्वीकार भी कर लिया।
स्टेट बैंक को लाखों का आर्थिक नुकसान पहुंचाने के मामले में बैंक के अधिकारियों और आरोपी कैशियर का बयान दर्ज करने के बाद गिरफ्तारी की जाएगी-टीआर साहू, सब इंस्पेक्टर कोतवाली [ विवेचना अधिकारी ] ।

SBI को 1,894 करोड़ की पूंजी देने की योजना बना रही है सरकार

30 साल में लोगों के 8 लाख रुपए लोन पर बचेंगेः SBI

Posted By: Bhupendra Singh