रायपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि : मालवीय रोड और इससे लगे दो बड़े बाजार गोलबाजार और बंजारी रोड, जहां रोजाना कई करोड़ का कारोबार होता है। न सिर्फ रायपुर बल्कि प्रदेश और पड़ोसी राज्यों के कारोबारी खरीदी करने पहुंचते हैं। लेकिन सबसे बड़े मार्केट की सबसे बड़ी समस्या है 'जाम'। गाड़ियां यहां चलती नहीं रेंगती हैं। इसलिए सवाल यह है कि क्या मालवीय रोड को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए और सुव्यवस्थित बाजार बसने, क्यों नहीं इसे वन-वे कर दिया जाए? 

नगर निगम, रायपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड और यातायात पुलिस ने कई बार तीनों बाजारों के पदाधिकारियों के साथ बैठकें कीं। नतीजा सिफर इसलिए रहा क्योंकि व्यापारी पार्किंग चाहते हैं। निगम ने जयस्तंभ चौक पर मल्टीलेवल पार्किंग की सुविधा मुहैया करवा दी है,तो जवाहर बाजार पार्किंग भी मार्च-अप्रैल 2019 तक बनकर तैयार हो जाएगी।

'नईदुनिया' के 'माय सिटी माय प्राइड' की 'राउंड टेबल कॉन्‍फ्रेंस' में भी यही मुद्दा उठा। अब व्यापारी संघ इस बात से रजामंद है कि पार्किंग सुविधा मिलेगी तो वन-वे से उन्हें कोई गुरेज नहीं। सुविधा मिलने के पहले वन-वे का समर्थन नहीं करते हैं। मालवीय रोड में पहुंचने के लिए दो ही प्रमुख मार्ग है एक जयस्तंभ चौक की तरफ से दूसरा कोतवाली थाना की तरफ से। दोनों ही छोरों पर मल्टीलेवल पार्किंग बन रही है। यहां गाड़ियां पार्क की जाएं समस्या का समाधान हो जाएगा। इसके लिए संयुक्त प्रयास की अनिवार्यता है। यह मेट्रो सिटी की तर्ज पर एक सुव्यवस्थित बाजार का आकार ले लेगा।

मालवीय रोड में ट्रैफिक जाम की वजह
कोतवाली चौक सघन है लेकिन यहां जाम कम लगता है क्योंकि ट्रैफिक पुलिस तैनात रहती है। जयस्तंभ चौक की तरफ आगे बढ़ने पर चिकनी मंदिर के बाजू से गोलबाजार की तरफ रास्ता जाता है। यहां क्रॉसिंग है। एक रास्ता शास्त्री बाजार की तरफ है। इस प्‍वांइट पर जाम लगता है। आगे बढ़ने पर गोलबाजार थाना के बाजू से गोलबाजार की तरफ एक और रास्ता कटता है और इसके ठीक सामने अमरदीप टॉकीज गली (बांस टाल की तरफ) की ओर जाता है। इस प्‍वांइट पर भी जाम लगता है। इन प्‍वाइंट को बंद करना होगा। यहां बैठने वाले सब्जी, फल दुकानदारों को नई जगह दी जाए।

यलो लाइन का पालन नहीं
निगम और ट्रैफिक पुलिस यहां सड़क तक व्यापारियों द्वारा दुकानों का साजो-सामान रखकर ब्रिकी किए जाने पर रोक लगाई थी। रोक के लिए यहां पीली लाइन मार्किंग की गई थी लेकिन उसका भी पालन नहीं हुआ।

वन वे के फायदे
ट्रैफिक जाम से मुक्ति- यहां चार पहिया गाड़ियों की वजह से जाम की स्थिति बनती है, इससे निजात मिलेगी। पैदल चलने वालों को होगी सुविधा- चार पहिया गाड़ियों, टू व्हीलर वालों के कारण पैदल चलने वालों को दिक्कतों को सामने करना पड़ता है। वन वे से इनके लिए चलना आसान होगा।

टू व्हीलर पार्किंग मिल सकती है

वन वे होने से सड़क के दोनों तरफ पीली लाइन के भीतर आराम से दोपहिया पार्क किए जा सकेंगे। इससे जाम लगने की नौबत ही नहीं आएगी। पार्किंग की व्यवस्था हो सकती है। बता दें कि अधिकांश खरीददार टू व्हीलर से ही खरीददारी करने पहुंचते हैं। टू व्हीलर गाड़ी मालवीय रोड से लेकर गोल बाजार, बंजारी रोड में आसानी से जा सकती हैं।

जरूरत तो है ही
अभी स्मार्ट सिटी के तहत मौदहापारा,एमजी रोड की सड़कों को वन-वे किया है। यह सफल है हालांकि यहां पर गार्ड लगाने पड़े हैं। मालवीय रोड को वन-वे करने को लेकर व्यापारियों के साथ-साथ समय-समय पर बैठकें हुई थीं, लेकिन कोई ठोस नतीजा नहीं निकल सका। वास्तव में मौजूदा स्थिति को देखते हुए, खासकर त्यौहारी सीजन में यह जरूरत भी है।
-संतोष पांडेय, जोन 7 आयुक्त, नगर निगम

पार्किंग की सुविधा मिले
वन -वे तभी संभव है जब आप खरीददारों और दुकानदारों को सर्व सुविधायुक्त पार्किंग की सुविधा मुहैया करवाएंगे। फिलहाल तो वन-वे संभव नहीं है क्योंकि कारोबार मारा जाएगा। जवाहर बाजार पार्किंग बनने के बाद संभव है।
-राजेश वासवानी, महामंत्री, मालवीय रोड व्यापारी

By Krishan Kumar