नई दुनिया प्रतिनिधि, रायपुर। माय सिटी माय प्राइड के 26 सितंबर के फोरम में राज्य के हेल्थ आयुक्त आर. प्रसन्ना ने कहा था कि वरिष्ठ नागरिकों के लिए अस्पतालों में विशेष व्यवस्था की जाएगी। फोरम के पांचवे दिन ही राज्य के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल डॉ. भीमराव आंबेडकर अस्पताल में एक अक्टूबर से नई व्यवस्था शुरू कर दी गई।

जेरियाट्रिक ओपीडी में केवल बुजुर्गोंं की जांच की जाएगी। इसका समय सुबह 8.30 बजे से दोपहर एक बजे तक का रखा गया है। इस दौरान बुजुर्गों को कोई दिक्कत न हो, इसे ध्यान में रख कर ओपीडी के दौरान ही वहां पर ह्वील चेयर और स्ट्रेचर भी रखा गया है।

जागरण नई दुनिया के फोरम में सीनियर सिटीजन फोरम में यह मुद्दा उठाया था और कहा था कि वरिष्ठ नागरिकों को अस्पतालों में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। फोरम के सवाल के जवाब में स्वास्थ्य आयुक्त प्रसन्ना ने आश्वासन दिया था कि जल्द ही वरिष्ठ नागरिकों को अलग सुविधा दी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा है कि एक अलग वॉर्ड भी बनाने का प्रयास किया जाएगा।

अस्पताल में आज से प्रारंभ जेरियाट्रिक ओपीडी में मेडिसिन विभाग के विशेषज्ञ डॉक्टर तैनात हो गए। साथ ही सर्जरी, हड्डी रोग, ईएनटी, गायनेकोलॉजी, नेत्र रोग, एक्स-रे और पैथालॉजी लैब की सुविधा भी मिलेगी। मेडिसिन विभागाध्यक्ष डॉ. वीएन मिश्रा ने बताया कि ओपीडी में बुजुर्गों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने की पूरी कोशिश की जाएगी।

ओपीडी का उद्घाटन जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज की अधिष्ठाता डॉ. आभा सिंह ने किया। उन्होंने कहा कि ओपीडी में बुजुर्गों की नियमित जांच की जाएगी। जो बुजुर्ग ज्यादा और बार- बार बीमार होंगे, उनका भर्ती कर इलाज किया जाएगा। अस्पताल अधीक्षक डॉ. विवेक चौधरी ने कहा कि बुजुर्गों को इलाज के साथ दवाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी। भविष्य में यहां की स्वास्थ्य सुविधाओं को और बेहतर बनाया जाएगा।

By Krishan Kumar