Move to Jagran APP

Jharkhand: कोरबा में 17 टुकड़ों में युवक का मिला शव, बैग और बोरी में मिले शरीर के अंग; जांच में जुटी पुलिस

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में पाली थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम गोपालपुर में आज सुबह यहां स्थित डैम में एक बैग और बोरी से एक युवक का शव 17 टुकड़ों में बरामद हुआ जिसका सर गायब था। पुलिस को बैग से मोहम्मद वसीम अंसारी रांची झारखंड लिखा एक पासपोर्ट भी मिला है। हालांकि अभी पुष्टि नहीं हुई है कि मृतक वसीम ही है।

By Jagran News Edited By: Jeet Kumar Thu, 11 Jul 2024 12:51 AM (IST)
कोरबा में 17 टुकड़ों में युवक का मिला शव

 जेएनएन, कोरबा। जिले के पाली थाना के चैतमा पुलिस क्षेत्र अंतर्गत ग्राम गोपालपुर स्थित डैम से पुलिस ने बुधवार को एक युवक का 17 टुकड़ों में कटा शव बरामद किया है। कटा हुआ सिर और शव के टुकड़ों को बैग व दो बोरे में भरकर डैम में फेंका गया था।

पुलिस को बैग से 'मोहम्मद वसीम अंसारी, रांची, झारखंड' लिखा एक पासपोर्ट भी मिला है। हालांकि अभी पुष्टि नहीं हुई है कि मृतक वसीम ही है। स्वजनों के कोरबा पहुंचने के बाद ही मृतक की पहचान हो पाएगी।

शव को कहीं और से लाकर यहां फेंका

पुलिस को आशंका है कि शव को कहीं और से लाकर यहां फेंका गया है। पुलिस के अनुसार गोपालपुर के डैम में बुधवार को दोपहर करीब 12 बजे कुछ ग्रामीण पहुंचे, तो उन्हें सड़ी हुई लाश की दुर्गंध आई। डैम में पानी के सतह में तैरता हुआ एक बैग दिखा। संदेह होने पर इसकी सूचना पुलिस को दी गई।

मौके पर पहुंचे पुलिस के अधिकारियों ने बैग को बाहर निकलवाया, तो देखा उसमें कुछ कपड़े व कटे हुए दो पैर थे। गोताखोरों की मदद से डैम में तलाशी लेने पर एक प्लास्टिक का बोरा मिला, जिसमें कटे हुए मानव अंग थे। एक अन्य बोरे से कटा हुआ सिर मिला। अभी कमर से धड़ तक का हिस्सा नहीं मिला है। इस मामले में पुलिस फारेंसिक एक्सपर्ट की मदद ले रही है।

पुलिस पहुंची रांची, स्वजन को लेकर रवाना

बैग से मोहम्मद वसीम अंसारी रांची झारखंड लिखा एक पासपोर्ट मिला है। कोरबा पुलिस इस पते तक पहुंच गई, लेकिन फोटो देखकर स्वजन स्पष्ट नहीं कर पा रहे हैं। वे कोरबा के लिए रवाना हो गए हैं। पुलिस ने बताया कि दो बोरे और एक बैग में कटी हुई हालत में 20-25 साल के युवक का शव बरामद हुआ है।

गुमराह करने की साजिश तो नहीं

सवाल उठता है कि आरोपित की मंशा मृतक की पहचान छिपाना है, तो शव के साथ कपड़े और पासपोर्ट क्यों रखा। यह पुलिस को गुमराह करने का षडयंत्र लगता है। एक बात साफ है कि हत्या के बाद बड़े इत्मीनान से शव को कई हिस्सों में काटा गया है।